भारत

रोहट थानाधिकारी जसवंत सिंह राजपुरोहित पर बजरी माफिया से गंठजोड़ का आरोप

बजरी माफियाओं का काम नहीं करने पर उन्हें लाइन हाजिर किया गया है। उनके खिलाफ गलत परिवाद दिए गए है, जिसकी जांच भी सीओ संत को ही सौंपी गई है, जो गलत है।

रोहट थानाधिकारी जसवंत सिंह राजपुरोहित पर बजरी माफिया से गंठजोड़ का आरोप

पाली. पाली जिले के रोहट थाना क्षेत्र की जेतपुर पुलिस चौकी प्रभारी मनोहरलाल विश्नोई को लाइन हाजिर कर दिया गया। विश्नोई का एक वीडियो वायरल हुआ है, इसमें पुलिस उप अधीक्षक (पाली ग्रामीण) श्रवणदास संत व रोहट थानाधिकारी जसवंत सिंह राजपुरोहित पर बजरी माफिया से गंठजोड़ का आरोप लगाया है, साथ ही कहा है कि बजरी माफियाओं का काम नहीं करने पर उन्हें लाइन हाजिर किया गया है। उनके खिलाफ गलत परिवाद दिए गए है, जिसकी जांच भी सीओ संत को ही सौंपी गई है, जो गलत है।

यह भी पढ़े, कोयले की कमी के कारण राजस्थान में बिजली संकट गहराया,दो प्रमुख कालीसिंध और सूरतगढ़ थर्मल प्लांट की सभी यूनिट बंद

बजरी के डम्पर पकड़े, फिर लाइन हाजिर, कोर्ट में गए, फिर नए आदेश से लाइन में भेजा
उप निरीक्षक मनोहरलाल विश्नोई को ५ जुलाई को पुलिस लाइन से रोहट थाने की जेतपुर पुलिस चौकी के प्रभारी पद पर तबादला किया गया।

इसके बाद विश्नोई ने दो-तीन बजरी के डम्पर के चालान काटे। १६ अगस्त को पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने विश्नोई को लाइन हाजिर कर दिया। इस आदेश में शिकायतन शब्द लिखा। विश्नोई ने हाइकोर्ट की शरण ली, इसमें कोर्ट ने शिकायतन शब्द पर आपत्ति जताते हुए नए सिरे से आदेश जारी करने को कहा।

एसपी ने २५ अगस्त को नए आदेश जारी कर उप निरीक्षक विश्नोई को लाइन में भेज दिया।

वीडियो में लगाए गंभीर आरोप:

उप निरीक्षक विश्नोई का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ, इसमें वे कह रहे हैं कि बजरी माफिया के खिलाफ चालान काटने से वे नाराज हो गए, इसकी शिकायत बजरी माफियाओं ने एसएचओ रोहट जसवंत सिंह विश्नोई व सीओ ग्रामीण श्रवणदास संत से की। इस पर उन्हें लाइन हाजिर किया गया। वीडियो में आरोप लगाया कि इससे पहले उन्हें एसएचओ ने थाने बुलाया और बजरी माफियाओं के सामने कहा कि वे सीओ साहब के आदमी है और उन्हें काम करने दे।

फिर सीओ संत ने विश्नोई को अपने कार्यालय बुलाया और फटकार लगाई। विश्नोई के खिलाफ एक परिवाद सीओ को दिया गया, जिसमें विश्नोई पर पन्द्रह हजार रुपए बजरी माफिया से लेने का आरोप लगाया गया। विश्नोई ने इस परिवाद को झूठा बताते हुए एसपी रावत से इसकी जांच अन्य अधिकारी से करवाने की कही। विश्नोई ने दोनों अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए। कुछ दिनों पहले एक वीडियो वायरल हुआ, जो पाली के रोहट थाना क्षेत्र की केरला चौकी का बताया जा रहा है। इसमें बजरी माफिया चौकी परिसर में शराब पार्टी कर डांस करते दिख रहे हैं, विश्नोई ने इसकी भी जांच की मांग की है।

सासंद हनुमान बेनीवाल ने की सीओ को निलम्बित करने की मांग:

रालोपा संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने सीएमओ व डीजीपी को ट्वीट करके श्रवण दास संत को निलंबित करने की मांग की है।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer