भारत

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पुलिस से कहा, बिना समझौता कानून-व्यवस्था बनाए रखें

विजयवाड़ा, 21 अक्टूबर ()। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी ने गुरुवार को पुलिस से बिना किसी समझौते के कानून-व्यवस्था बनाए रखने का आह्वान किया है।

यहां इंदिरा गांधी नगर निगम स्टेडियम में आयोजित पुलिस स्मृति दिवस कार्यक्रम में उन्होंने पुलिस के बलिदान को याद किया और शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

मुख्यमंत्री ने पुलिस शहीदों के परिवारों को उनके द्वारा किए गए बलिदान पर एक पुस्तक का विमोचन करने के अलावा वित्तीय सहायता प्रदान की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में देशभर में 377 पुलिस कर्मियों ने ड्यूटी के दौरान अपने प्राणों की आहुति दी, जिनमें से 11 राज्य के थे।

जगन मोहन रेड्डी ने दावा किया कि आंध्र प्रदेश एकमात्र ऐसा राज्य है, जिसने पुलिस के लिए साप्ताहिक डे-ऑफ सिस्टम शुरू किया है। हालांकि, महामारी के कारण इसे प्रभावी ढंग से लागू नहीं किया जा सका, लेकिन अब इसे बहाल कर दिया जाएगा, क्योंकि कोविड के मामले घट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पिछली सरकार के लंबित बकाए का भुगतान किया है। होमगार्डो के मानदेय में वृद्धि की है और 16,000 महिला पुलिस की भर्ती की है। साथ ही उन्होंने कहा कि विभाग में रिक्त पदों को भरने के लिए बड़े पैमाने पर भर्ती की जाएगी।

पुलिस ने कोविड के शिकार हुए पुलिसकर्मियों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये मंजूर किए हैं और सरकार ने पांच लाख रुपये के बराबर अनुदान की मंजूरी दी है और तत्काल परिजनों को 10 लाख रुपये का चेक दिया है।

रेड्डी ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों को मृतक पुलिस कर्मियों के परिवार के सदस्यों को अनुकंपा के आधार पर 30 नवंबर तक तुरंत नौकरी उपलब्ध कराने का निर्देश दिए हैं।

इस अवसर पर गृह मंत्री मेकाथोती सुचरिता, बंदोबस्ती मंत्री वेल्लमपल्ली श्रीनिवास, नागरिक आपूर्ति मंत्री कोडाली वेंकटेश्वर राव, मुख्य सचिव समीर शर्मा, डीजीपी गौतम सवांग और अन्य उपस्थित थे।

एचके/एसजीके