भारत

Black fungus: जाने क्यों इंजेक्शन लगते ही तेज ठंड से कांपने लगे ब्लैक फंगस के मरीज

Black fungus: उन्हें इतनी तेज ठंड लगने लगी कि वे कांपने लगे और इसी के साथ उन्हें उल्टी व तेज बुखार की शिकायत भी होने लगी। वहीं 6 कम्बल भी उनकी ठंड को मिटा पाने में असफल रही।

Black fungus:

इंदौर/सागर/जबलपुर.
कोरोना के बाद अब देश के कुछ हिस्सों में ब्लैक फंगस अपने हाथ पैर पसार रहा है।

ऐसे में ब्लैक फंगस (Black fungus) के बारे में जो खबर सामने आई है वह चोंकाने वाली है।

मध्यप्रदेश में ब्लैक फंगस (Black fungus) के मामले बढ़ते जा रहे है। इन मरीजों को जब एंफोटेरिसिन-बी (amphotericin b) नामक इंजेक्शन लगाया गया तो मरीजो की हालत बिगड़ने लगीं।

उन्हें इतनी तेज ठंड लगने लगी कि वे कांपने लगे और इसी के साथ उन्हें उल्टी व तेज बुखार की शिकायत भी होने लगी।
वहीं 6 कम्बल भी उनकी ठंड को मिटा पाने में असफल रही।

यह भी पढ़ें, सलमान खान ने महामारी के चलते की अपील एक दूसरे की करे मदद ओर रहे पॉजिटिव

इंदौर, सागर व जबलपुर के मरीजों को जैसे ही
एंफोटेरिसिन-बी नामक इंजेक्शन लगाया गया तो उनकी हालत बिगड़ने लगी।

वही 6 कम्बल भी उनकी ठंड को नही मिटा पा रहे थे।
यह घटना इंदौर के महाराजा यशवंतराव (MY) अस्पताल के वार्ड 21से लेकर कई अस्पतालों में

व सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज से लेकर जबलपुर मेडिकल कॉलेज तक घटी।

मरीजों का रखा जा रहा ध्यान:-

ब्लैक फंगस (Black fungus) का इंजेक्शन लगते ही 40 फीसदी मरीजो में इस तरह के साइड इफेक्ट देखे गए, (MY हॉस्पिटल के अनुसार) ।

उन्होंने बताया कि दो या तीन डोज देने के बाद इस तरह के लक्षण देखे गए।

उनमें चक्कर, उल्टी, ठंड व तेज़ झुनझुनी जैसे साइड इफेक्ट दिखे।

डीन ने सागर में लगाई रोक:-

सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में इस बीमारी के 27 मरीज है

जिनका इलाज चल रहा है, इन 27 मरीजो को एंफोटेरिसन-बी इंजेक्शन लगाया गया ।

जब इन्हें इससे साइड इफेक्ट होने लगा और कॉलेज के डीन को जैसे ही इसकी खबर मिली तो उन्होंने फ़ौरन इस पर रोक लगा दी।

इंजेक्शन के साइड इफेक्ट्स को देखते हुए अब उन्हें दूसरी दवाइयां दी जा रही है।

जबलपुर में Black fungus के मरीजों का हाल:-

जबलपुर के कॉलेज के 60 मरीजो की हालत इस इंजेक्शन को लगाने के बाद से खराब हुई।

उनमें भी इंजेक्शन लगने के 10 मिनट बाद तेज ठंड, उल्टी व घबराहट जैसे लक्षण दिखाई देने लगे।

इस घटना के होते ही पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया तथा उन मरीजो को जल्द ही एंटी रिएक्शन दवा दी गयी।

तब जाकर उन्हें राहत की साँस मिली।

इस अस्पताल में ब्लैक फंगस (Black fungus) बीमारी के कुल 126 मरीज भर्ती है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker