दिल्लीभारत

Coronavirus Vaccine: इंडिया के सीरम इंस्टिट्यूट को स्पुतनिक-V वैक्सीन बनाने की मंजूरी मिली

Coronavirus Vaccine सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को स्पुतनिक-वी के निर्माण के लिए Drug Controller General of India से आवश्यक मंजूरी प्रदान मिली है।

Coronavirus Vaccine

नई दिल्ली.
सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया अब रूस की वैक्सीन स्पुतनिक-वी का निर्माण करेगा।

सीरम को स्पूतनिक-वी बनाने के लिए ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की तरफ से मंजूरी प्रदान कर दी गयी है।

अब यह कम्पनी अपनी लैब (पुणे के हडप्सर में स्थित) में इस वैक्सीन का परीक्षण व विश्लेषण कर सकेगी।

वहीं सीरम इंस्टिट्यूट ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन के लिए ऐस्ट्राजेनेका के साथ डील किया है।

भारत मे इस वैक्सीन को कोविशिल्ड के नाम से बनाया जा रहा है।

Coronavirus Vaccine 

भारत मे कम्पनी ने वैक्सीन का ट्रायल भी किया था और WHO के वैक्सीन गठबंधन कोवॉक्स संगठन को भी कोविशील्ड सप्लाई की गई।

वहीं सीरम ने नोवावेक्स कम्पनी के साथ भी डील की है।

उसकी वैक्सीन कोवावैक्सके नाम से जानी जाएगी।

अब यह कम्पनी कोविशील्ड, स्पुतनिक-V और कोवावैक्स वैक्सीन्स का निर्माण भी करेंगी।

Coronavirus Vaccine

पैनेसिया बायोटेक जो कि घरेलू दवा बनाती है,

ने रूस के सरकारी निवेश कोष रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) के साथ

मिलजुलकर भारत मे स्पुतनिक-वी कोरोना के टीके का निर्माण शुरू कर दिया है।

कोविड-19 के स्पुतनिक-V टीके की पहली खेप जो कि पैनेसिया बायोटेक के हिमाचल प्रदेश के बद्दी कारखाने में तैयार की गई है,

रूस के गामालेया केन्द्र भेजी जाएगी।

वहां उसके गुणवत्ता की जांच होगी।

Coronavirus vaccination: क्या आप भी कोरोना वैक्सीन को लेकर भ्रमित है

स्पुतनिक-V टीके को अंतरराष्ट्रीय बाजार में रूस का RDIF (आरडीआईएफ) उपलब्ध कराता है।

भारत में स्पुतनिक-V टीके की हर साल 10 करोड़ खुराक उत्पादन करने पर आरडीआईएफ और पैनेसिया बायोटेक सहमत हुए है।

दोनों ने अप्रैल में इसकी घोषणा कर दी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक इन्ही गर्मियों में इनका उत्पादन ओरण ट्रिम से शुरू होने के कयास
लगाए जा रहे है।

वैसे तो बड़े पैमाने पर इसका उत्पादन किस महीने में शुरू होगा उसका जिक्र नही किया गया है

Coronavirus Vaccine

12 अप्रैल 2021 को स्पुतनिक-V को भारत में
आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति के साथ पंजीकृत किया गया।

14 मई से टीकाकरण अभियान में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये इस्तेमाल भी शुरू कर दिया गया।

रेड्डीज लैबोरेटरीज (घरेलू दवा विनिर्माता कंपनी) ने 14 मई को बताया कि

घरेलू दवा विनिर्माता कंपनी डा. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने 14 मई को कहा था कि “सीमित शुरुआत के हिस्से के तौर पर स्पुतनिक-वी टीके की शुरुआत कर दी गई है

और इसकी पहली खुराक हैदराबाद में दी गई है”

रिपोर्ट के मुताबिक 97.6 प्रतिशत स्पुतनिक-V टीके की दक्षता है।

5 दिसंबर 2020 से 31 मार्च 2021 के बीच यह आंकड़ा रूस में स्पुतनिक-V के दोनों घटकों के साथ

रूस में किये गये टीकाकरण के लाभार्थियों में कोरोना वायरस संक्रमण दर के विश्लेषण पर आधारित है।

बताया जा रहा है कि 66 देशों में स्पुतनिक-V को पंजीकृत किया गया है।

इस वैक्सीन (स्पुतनिक-V) को सामान्य रेफ्रिजरेटर में बिना किसी अतिरिक्त बदलाव के साथ रखा जा सकता है.

 

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker