भारतमहाराष्ट्र

Ews Maratha Caste Reservation: महाराष्ट्र में EWS कोटे से मराठा समुदाय को 10% आरक्षण

महाराष्ट्र की ठाकरे सरकार ने मराठा समुदाय को EWS कोटे से 10 प्रतिशत आरक्षण देने का फैसला किया हैं

- Ews Maratha Caste Reservation: महाराष्ट्र सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर मराठा समुदाय के लोगों को आरक्षण देने का फैसला लिया है. राज्य सरकार द्वारा जारी आदेश के अनुसार, अब मराठा समुदाय को EWS में शामिल किया गया है. इसके बाद अब समुदाय के लोगों को सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 10 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा.

जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट मुंबई द्वारा यह आदेश जारी किया गया है. नए आदेश के अनुसार मराठा समुदाय को EWS (Ews Maratha Caste Reservation) के तहत 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा. अब EWS की शर्तों को पूरा करने वाला और किसी अन्य वर्ग में जो व्यक्ति शामिल न हो. वह व्यक्ति 10 फीसदी आरक्षण का लाभ ले सकता हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण को रद्द कर दिया था. जिसके बाद राज्य सरकार मराठा समुदाय को राहत देने की कोशिश कर रही है. मराठा आरक्षण लागू होने के समय समुदाय 10 प्रतिशत ईडब्ल्यूएस आरक्षण का लाभ नहीं उठा सकता था. अब मराठा आरक्षण रद्द होने के बाद, सरकार ने मराठों को EWS आरक्षण देने का फैसला लिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था मराठा आरक्षण.

5 मई, 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार के मराठा आरक्षण के फैसले को रद्द कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि मराठा आरक्षण से 50 फीसदी आरक्षण की तय सीमा का उल्लंघन होगा. कोर्ट के अनुसार आरक्षण के अंतर्गत लाने के लिए उन्हें शैक्षणिक और सामाजिक तौर पर पिछड़ा नहीं मान सकते.

क्या हैं EWS आरक्षण?

ईडब्ल्यूएस का अर्थ हैं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग. केंद्र ने 2019 में ईडब्ल्यूएस वर्ग को शिक्षा और नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण देने की घोषणा की थी. लाख रुपये से कम सालाना आय वालों को ईडब्ल्यूएस के तहत शिक्षा और नौकरी में आरक्षण दिया जाएगा. इसके अलावा पारिवारिक खेती भूमि भी पाँच एकड़ से कम होनी चाहिए.

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker