भारत

मप्र में सामंतवाद पर संग्राम

भोपाल 21 अक्टूबर ()। मध्य प्रदेश में हो रहे विधानसभा और लोकसभा के उपचुनाव में सामंतवाद को लेकर संग्राम छिड़ गया है। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और अन्य कुछ नेताओं को राजा-महाराजा बताते हुए बुंदेलखंड और प्रदेश की बर्बादी को जिम्मेदार बताया तो कांग्रेस ने दिग्विजय पर हुए हमले को बुंदेलखंड के वीर नायकों से जोड़ने की कोशिश कर डाली।

राज्य की तीन विधानसभा सीटों जोबट, पृथ्वीपुर और रैगांव में उप चुनाव हो रहे हैं, इनमें सबसे चर्चित सीट पृथ्वीपुर है इसकी वजह भी है क्योंकि यहां से कांग्रेस के कद्दावर नेता बृजेंद्र सिंह राठौर विधायक रहे हैं और अब उनका बेटे नितेंद्र राठौर चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट को जीतने के लिए भाजपा और कांग्रेस पूरा जोर लगाए हुए हैं।

चुनाव के शुरूआती दिनों से एक तरफ जहां कांग्रेस अपने 15 माह के शासन काल की खूबियां गिना रही है, तो वहीं भाजपा के शासनकाल में व्याप्त गड़बड़ियों का हवाला देकर हमले बोल रही है। साथ ही भाजपा अपनी उपलब्धियों को गिना रही है।

चुनाव की तारीख करीब आने के साथ दोनों ओर से हमले भी तीखे हो चले हैं। सबसे ज्यादा हमलों का मैदान पृथ्वीपुर विधानसभा बना हुआ है। इसी वजह है क्योंकि बुंदेलखंड की पहचान वैसे भी गरीब इलाके के तौर पर है। यहां समस्याएं बेहिसाब हैं, इतना ही नहीं यहां का सामंतवाद हमेशा से चर्चा में रहा है। यह सामंतवादी किसी जाति विशेष का नहीं होता, बल्कि जो दबंग और ताकतवर होता है वही सामंती की श्रेणी में आता है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने सामंतवाद को लेकर बड़ा हमला बोला और बुंदेलखंड व राज्य की स्थिति के लिए राज्य में वर्ष 2003 से पहले तक सत्ता में रहे दिग्विजय सिंह की कार्यशैली को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि, वर्ष 2003 से पहले एक राजा दिग्विजय सिंह का राज चल रहा था, वे मुख्यमंत्री थे, पूरे प्रदेश को भ्रष्टाचार में डुबो दिया था, उनके राज में आतंक का पर्याय बन गया था मध्य प्रदेश, उनके इशारे पर ही इसी पृथ्वीपुर और बुंदेलखंड में गुंडागर्दी थी, आतंक का पर्याय बन गया था। इन राजा महाराजाओं ने पूरे प्रदेश और बुंदेलखंड को आतंक का पर्याय बना दिया था।

उन्होने आगे कहा कि पृथ्वीपुर के कांग्रेस के प्रत्याशी फिर दिग्विजय सिंह के इशारे पर काम करने वाले हैं। इतना ही नहीं दिग्विजय सिंह के आशीर्वाद से ही इस इलाके को आतंक के साए में लेकर गए।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष शर्मा द्वारा दिग्विजय सिंह पर किए गए हमले को कांग्रेस ने बुंदेलखंड के वीर सेनानियों का अपमान ही बता डाला। उन्होंने कहा कि शर्मा ने बुंदेलखंड के वीर योद्धा छत्रसाल बुंदेला और अन्य सम्मानीय राजाओं का अपमान किया है।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष शर्मा के बयान और उस पर सलूजा की प्रतिक्रिया पर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने ही चुटकी लेते हुए कहा है कि, कांग्रेस के नेता पूरे बयान को सुने बिना ही अपनी राय जाहिर कर देते हैं और उससे पार्टी का ही नुकसान हो जाता है। इस मामले में भी ठीक ऐसा ही हुआ है, लगता है कि सलूजा ने बयान को पूरा सुना ही नहीं और अपनी राय जाहिर कर दी। वास्तव में यह बयान दिग्विजय सिंह के खिलाफ था और उसे वीर योद्धाओं से जोड़ दिया।

एसएनपी/एएनएम