भारत

लद्दाख सीमा पर तनाव की स्थिति, 29-30 अगस्त की झड़प में हुई थी फायरिंग

- भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर तनाव कम नहीं हुआ है। लद्दाख बॉर्डर पर चीन की हलचल बढ़ रही है और भारत उसपर नजर रख रहा है। जब पैंगोंग बैंक के इलाके में भारतीय सेना ने साउथ बैंक इलाके में अपनी मौजूदगी बढ़ाई तो चीन की सेना ने नॉर्थ बैंक इलाके में अपनी हलचल तेज कर दी। लेकिन चीन किसी भी तरह की चाल को भारतीय सेना सफल नहीं होने दे रही हैं।

सेना के अफसरों के अनुसार 7 और 8 सितंबर के बीच भारतीय सेना ने साउथ बैंक से लेकर नॉर्थ बैंक तक अपनी मौजूदगी बढ़ा दी है। चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने कई जगहों पर भारतीय पोजिशन में घुसपैठ करने की कोशिश की हैं। इस दौरान उन्हें रोकने की कोशिश के दौरान कुछ वार्निंग शॉट भी फायर किए गए।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, 29 से 31 अगस्त के बीच भारतीय सेना और चीनी सेना के बीच झड़प और चीनी सेना की तरफ से घुसपैठ की कोशिश हुई थी, तब भी पैंगोंग लेक के दक्षिणी किनारे पर फायरिंग हुई थी। हालांकि तब भी भारतीय सेना ने चीन को घुसपैठ करने से रोकने के लिए वार्निंग शॉट ही फायर किए थे।

इन वार्निंग शॉट्स में हल्की मशीन गन और असॉल्ट रायफल से फायरिंग की गयी थी। इसके बाद भी बॉर्डर पर वार्निंग शॉट की कुछ और घटनाएं भी हुई थीं। आपको बता दें कि मई के बाद से भारत और चीन के बीच लद्दाख बार्डर पर तनाव की स्थिति बरकरार है। लेकिन अगस्त के आखिरी हफ्ते में हुई फायरिंग की घटना की वजह से माहौल और बिगाड़ गया।

मंगलवार रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में इस मामले पर बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि चीन ने समझौतों का उल्लंघन किया हैं और सीमा पर जवानों की संख्या बढ़ाई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हम इस मामले को शांति और बातचीत के जरिए सुलझाना चाहते है। लेकिन हमारी सेनाएं किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। राजनाथ सिंह की ओर से कहा गया कि चीन ने बार-बार समझौतों का उल्लंघन किया है।

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker