दिल्लीभारत

India-China: लद्दाख की ठंड से परेशान चीनी, सैनिकों की अदला बदली

India-China: 11 दौर की सैन्य वार्ता होने के बावजूद अबतक भारत व चीन के बीच हुई बातचीत का कोई ठोस नतीजा नही निकला।

India-China latest news

नई दिल्ली. लद्दाख के उस पार LAC पर चीन की सेना कड़ाके की ठंड के कारण काफी परेशान है।

रिपोर्ट के अनुसार तापमान गिरने के कारण ठंड बढ़ने से उन्हें अच्छी खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इसी के चलते चीन ने अपनी सेना को इस कड़ाके की ठंड से बचाने के लिए 90 फीसदी सेना को वापस भेज कर नई खेप बुला ली है।

आपको बता दे कि पिछले साल मई से LAC पर भारत व चीन का गतिरोध जारी है।

2020 के अप्रेल व मई माह से लेकर अबतक पूर्वी लद्दाख के उस पर चीन ने 50 हजार से ज्यादा सेनिको को LAC पर तैनात किया है।

चीनी सैनिकों की बड़ी संख्या सीमा पर समझौते के बाद भी तैनात है।

वैसे पैन्गॉन्ग लेक सेक्टर व कुछ फॉर्वार्ड लोकेशन से चीन के कुछ सैनिकों की वापसी जरूर हुई है।

india china latest news

ANI (समाचार एजेंसी) ने रिपोर्ट के अनुसार बताया है

कि पिछले 1 साल से LAC पर तैनात सेनिको को वापस बुलाकर नई खेप भेजी गई है।

उन्होंने कहा कि तेज ठंड के चलते पिछले साल भी सैनिकों की अदला बदली होती रही है।

ये भी पढ़ें:- Mini Unlock in Rajasthan: कल से शुरू होगा राजस्थान में अनलॉक, जानिए कितनी और कहाँ मिलेगी छूट

Covid19 updates: कोरोना वायरस का एक और खतरनाक नया वेरियंट, भारत मे एक और नई मुसीबत

India china latest news

India-China Rift: लद्दाख की ठंड से परेशान चीनी, की सैनिकों की अदला बदली
India-China Rift: लद्दाख की ठंड से परेशान चीनी, की सैनिकों की अदला बदली

भारतीय सैनिक कब तैनात किए जाते है:-

दो सालों के लिए भारतीय जवानों को इन इलाकों में तैनात किया जाता है।

इसी बीच 40 से 50 फीसदी सेनिको की अदला बदली रोटेशन पॉलिसी के तहत होती है।

देखा जाए तो इस तरह के सैनिक इस तरह के कठिन इलाकों में 2 साल से अधिक नही रहते।

इन इलाकों का दौरा सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे के द्वारा किया जाता है।

आपको बता दें कि दोनों देशों के बीच (India-China) अबतक 11 दौर की सैन्य वार्ता हुई है।

लेकिन इसका अबतक कोई ठोस नतीजा नहीं आया है।

क्या है भारत का रुख?

सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे स्पष्ट शब्दों में यह कहा है

कि जब तक लद्दाख के हर हिस्से से चीनी सेना पूरी तरह से वापसी नही कर लेती तब तक तनाव खत्म नही हो सकता।

वही भारतीय सेना भी वहां तैनात रहकर किसी भी तरह की आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहेगी।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker