धर्म/ज्योतिषभारत

जन्माष्टमी में व्रत के दौरान क्या खाना चाहिए,जिससे आपकी इम्यूनिटी बूस्ट हो सके आइए जाने .(जन्माष्टमी स्पेशल)

जन्‍माष्‍टमी के व्रत को व्रतराज कहा जाता है और इस व्रत में खानपान के कुछ विशेष नियम होते हैं, जिसका पालन हर व्रती के लिए करना अनिवार्य होता है। जन्‍माष्‍टमी का व्रत कुछ लोग बिना

जन्माष्टमी में व्रत के दौरान क्या खाना चाहिए,जिससे आपकी इम्यूनिटी बूस्ट हो सके आइए जाने .(जन्माष्टमी स्पेशल)

इस साल 30 अगस्त 2021 को जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाएगा. भारत में इस त्योहार को काफी धूमधाम से मनाया जाता है. इस दिन लोग व्रत रखते हैं और भगवान श्री कृष्ण की पूजा-अर्चना करते हैं. लोग इस दिन पूरे दिन व्रत रखते हैं रात के 12 बजे व्रत खोलते हैं.
जन्‍माष्‍टमी के व्रत को व्रतराज कहा जाता है और इस व्रत में खानपान के कुछ विशेष नियम होते हैं, जिसका पालन हर व्रती के लिए करना अनिवार्य होता है। जन्‍माष्‍टमी का व्रत कुछ लोग बिना जल के यानी निर्जला रखते हैं तो कुछ लोग दिन भर उपवास रखकर शाम के वक्‍त फलाहार कर लेते हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे होते हैं जो दिन में 2 बार फलाहार करके भी जन्‍माष्‍टमी का व्रत कर लेते हैं। जन्‍माष्‍टमी के दिन हर घर में बहुत काम होता है। कान्‍हाजी का भोग लगाने के लिए तरह-तरह के पकवान बनाए जाते हैं। लोग अपना घर सजाते हैं तो ऐसे में व्रत करने पर आपका शरीर कमजोर पड़ सकता है। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं व्रत के खानपान को लेकर ऐसी चीजें जो आपको ऊर्जा देंगी और आपका व्रत भी पूर्ण माना जाएगा।
आइए जानते हैं आपको इस दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं जिससे आपकी इम्यूनिटी बूस्ट हो सके.

यह भी पढ़े : गणेश जन्मोत्सव 10 सितंबर को मनाया जायेगा, राजस्थान में बनाई जा रही इकोफ्रेंडली मूर्तिया

ऊर्जा और इम्‍यून सिस्‍टम के लिए ऐसा करें

कोरोना के दौर में व्रत भी करना है और इम्‍यून सिस्‍टम को भी मजबूत बनाकर चलना है तो इसके लिए आपको कुछ ऐसा आहार लेना चाहिए कि जो अल्‍प भी हो और ऊर्जा से भरपूर हो। इसके लिए व्रत शुरू करने से पहले आपको एक मुट्ठी बादाम या फिर अखरोट खा लेना चाहिए। इससे आपको जरूरत भर की एनर्जी भी मिलेगी और आपका इम्‍यून सिस्‍टम भी कमजोर नहीं पड़ेगा।

फलों का सेवन

जन्‍माष्‍टमी के व्रत में खूब फल खा सकते हैं। रसीले फलों के सेवन से आपके शरीर में पानी कमी नहीं होने पाती, जिस वजह से आपको डिहाइड्रेशन नहीं होता। जन्‍माष्‍टमी के व्रत में आप तरबूज ककड़ी और खरबूज जैसे अधिक पानी वाले फलों का सेवन करें तो आपको विशेष लाभ होगा। इसके अलावा आप केला, सेब और अमरूद भी खा सकते हैं। ऐसे फल आपको अधिक समय तक भूख नहीं लगने देते।

दही की लस्‍सी

कान्‍हाजी को छाछ और दही अतिप्रिय माना जाता है। आप चाहें तो जन्‍माष्‍टमी के शुभ दिन अपने परिवार के सभी सदस्‍यों को एक गिलास लस्‍सी देकर व्रत की शुरुआत कर सकते हैं। लस्‍सी पीने से आपको व्रत में अधिक प्‍यास नहीं लगती और आपका पेट भी भर जाता है। आपको बार-बार भूख भी नहीं लगती।

साबूदाना और कुट्टू का आटा

जन्‍माष्‍टमी के व्रत में जो लोग फलाहार रहकर व्रत करते हैं वे दिन में या फिर शाम के वक्‍त साबूदाने की खिचड़ी या फिर कुट्टू के आटे की पूरी बनाकर खा सकते हैं। ये दोनों ही चीजें काफी हल्‍की होती हैं और पेट भी भर जाता है।

व्रत तोड़ने के लिए

व्रत पूर्ण होने के बाद जब पारण करने का वक्‍त आए तो आपको अचानक से बहुत भारी भोजन नहीं करना चाहिए। इससे आपको गैस बन सकती है या फिर चक्‍कर आ सकते हैं। व्रत तोड़ने के लिए सबसे पहले गुड़ और पानी या फिर खीर जैसे भोज्‍य पदार्थों का प्रयोग करना चाहिए।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer