असमभारत

असम में ओमिक्रॉन के डर के बीच लागू हुआ नाइट कर्फ्यू

गुवाहाटी/अगरतला, 25 दिसम्बर ()। केंद्र सरकार द्वारा कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट पर अलर्ट जारी करने के बाद, असम सरकार ने शनिवार को राज्य भर में अनिश्चित काल के लिए रात के कर्फ्यू की घोषणा की है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के एक अधिकारी ने कहा कि रात 11.30 बजे से सुबह 6 बजे तक रात का कर्फ्यू लागू किया जाएगा।

हालांकि, लोगों को नए साल के जश्न से संबंधित कार्यक्रमों में शामिल होने की अनुमति देने के लिए 31 दिसंबर को रात का कर्फ्यू लागू नहीं होगा।

एएसडीएमए के एक बयान में कहा गया है कि सभी कार्यस्थल, व्यवसाय, वाणिज्यिक प्रतिष्ठान, डाइन-इन रेस्तरां, होटल, ढाबे और अन्य भोजनालयों से खाने के सामान ले जाना, बिक्री काउंटर, शोरूम, कोल्ड स्टोरेज खोलना और गोदाम, किराने का सामान, फल-सब्जी, डेयरी और दूध बूथ से संबंधित दुकानें रात 10.30 बजे तक खुली रहेंगी।

इसमें कहा गया है कि बैठक और सभा के लिए खुले स्थानों के संबंध में, क्षेत्राधिकार वाले जिला अधिकारी अपने-अपने जिलों में कोविड की स्थिति के आधार पर सभाओं की सीमा तय करेंगे।

बंद स्थानों के संबंध में हॉल और सभागार की बैठने की क्षमता के 50 प्रतिशत तक सभा की अनुमति है। धार्मिक स्थलों को प्रतिष्ठित स्थानों के लिए प्रति घंटे 60 पूर्ण टीकाकरण व्यक्तियों और अन्य धार्मिक स्थलों के लिए प्रति घंटे 40 पूर्ण टीकाकरण व्यक्तियों के साथ संचालित करने की अनुमति है।

सिनेमा हॉल पूरी तरह से टीके लगे दर्शकों के बैठने की 50 प्रतिशत क्षमता और कोविड-19 के उचित व्यवहार के पालन के साथ काम करना जारी रखे सकेंगे। सभी जिला मजिस्ट्रेट, पुलिस अधीक्षक और अन्य सभी संबंधित अधिकारी कोविड-19 वायरस की रोकथाम के लिए सभी सार्वजनिक स्थानों पर कोविड के उचित व्यवहार को सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार होंगे।

बयान में कहा गया है कि जिला अधिकारी सार्वजनिक स्थानों पर अत्यधिक निगरानी रखने और कोविड के उचित व्यवहार को लागू करने के लिए पर्याप्त संख्या में टीमों को तैनात करेंगे, ताकि कोविड-19 मामलों में वृद्धि की किसी भी संभावना से बचा जा सके।

इस बीच, त्रिपुरा सरकार ने भी लोगों को कोविड-19 के नए वैरिएंट को लेकर सचेत किया है।

त्रिपुरा के सूचना और सांस्कृतिक मामलों के मंत्री सुशांत चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस सप्ताह की शुरूआत में ओमिक्रॉन वैरिएंट पर समीक्षा बैठक के बाद, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब और मुख्य सचिव कुमार आलोक ने राज्य की तैयारियों की जांच के लिए दो समीक्षा बैठकें कीं।

सरकार के प्रवक्ता चौधरी ने कहा कि राज्य सरकार ने लोगों को ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर अलर्ट कर दिया है। बरहाल, असम और किसी अन्य पूर्वोत्तर राज्य में अभी तक कोई ओमिक्रॉन वैरिएंट का मामला नहीं पाया गया।

एचके/एएनएम