भारत

संविधान दिवस के मौके विपक्ष ने किया सेंट्रल हॉल कार्यक्रम का बहिष्कार

नई दिल्ली, 26 नवंबर ()। संविधान दिवस के मौके पर शुक्रवार को संसद के सेंट्रल हॉल में होने वाले समारोह में कांग्रेस पार्टी के सांसद शामिल नहीं हुए। नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने संसद परिसर में सांकेतिक रूप से विरोध किया।

समान विचारधारा वाले लगभग 14 विपक्षी दल भी इसका बहिष्कार कर रहे हैं। इन दलों में वामपंथी, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), राष्ट्रीय जनता दल, समाजवादी पार्टी, एसएस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, आईयूएमएल, डीएमके सहित 14 पार्टियां संविधान दिवस समारोह के लिए शुक्रवार के इससे जुड़े कार्यक्रम में शामिल नहीं हुईं।

कांग्रेस पार्टी के अनुसार बीजेपी संविधान का पालन नहीं कर रही है, इस लिए उन्होंने इस कार्यक्रम से दूर रहने का फैसला किया है। कुल मिलाकर समूचा विपक्ष इस कार्यक्रम में हिस्सा न लेकर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध जता रहा है।

कांग्रेस नेता मलिकार्जुन खरगे ने कहा हम (भाजपा) पूरे साल संविधान का अपमान करते हैं आज संविधान दिवस है। कांग्रेस संविधान दिवस कार्यक्रम में शामिल नहीं होगी।

इस मसले पर कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, आजादी के बाद दुनिया भर में लोगों ने कहा था कि भारत में लोकतंत्र जीवित नहीं रहेगा लेकिन फिर भी हम संविधान के कारण एक दूसरे से बंधे हुए हैं और इस को कमजोर करने की अनुमति हम किसी को नहीं देंगे।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, केंद्र और राज्य सरकारें इस बात की गहन समीक्षा करें कि क्या ये पार्टियां संविधान का सही से पालन कर रही हैं? अर्थात नहीं कर रही हैं इसलिए हमारी पार्टी ने केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा संविधान दिवस मनाने के कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, एससी/एसटी/ओबीसी वर्गों का ज्यादातर विभागों में आरक्षण का कोटा अधूरा पड़ा है। इनके लिए निजी क्षेत्र में आरक्षण की व्यवस्था नहीं की गई है। केंद्र और राज्य सरकारे इस मामले में कानून बनाने के लिए तैयार नहीं है। ऐसी सरकारों को संविधान दिवस मनाने का अधिकार नहीं है।

एनसीपी नेता मजीद मेमन ने कहा, भाजपा नेता भारत के संविधान के प्रति पूरी गंभीरता और सम्मान के साथ सेंट्रल हॉल में संविधान दिवस मनाना चाहते हैं। ऐसा करना एक मजाक है जब वे जमीन पर इसका पालन नहीं कर सकते हैं।

शिवसेना नेता, संजय राउत ने कहा, संविधान का देश में महत्व है। डॉ. बाबा साहब अंबेडकर के नेतृत्व में जनता को अधिकार दिए गए लेकिन आज राज्य, जनता को कुचल दिया जाता है, तो संविधान का मतलब क्या होता है? कहां है संविधान? हमारी सरकार बहुमत में है फिर भी हमारे पीछे जांच एंजेसी, कभी राजभवन लग जाते हैं।

विपक्ष के संविधान समारोह कार्यक्रम में शामिल न होने पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा, कांग्रेस पार्टी ने 50 साल से ज्यादा शासन किया, वो संविधान दिवस का बहिष्कार कर रही है। कांग्रेस का इस कार्यक्रम को बहिष्कार करना सिद्ध करता है कि वह केवल नेहरू परिवार से जुड़े लोगों का ही सम्मान और जयंती मनाएगी। यह राजनीति से उठकर सोचने का दिवस है।

गौरतलब है कि देश आज 71वां संविधान दिवस मना रहा है। संविधान दिवस समारोह के अवसर पर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद भवन में एक विशेष सभा को संबोधित किया। सेंट्रल हाल में हो रहे इस विशिष्ट सभा की अध्यक्षता राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की।

पीटीके/आरजेएस

Niharika Times We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications