भारत

Pfizer vaccine is safe for kids: 12-15 साल के बच्चों को लगेगी pfizer वैक्सीन, ब्रिटेन

Pfizer: 12-15 साल के बच्चों को लगेगी pfizer वैक्सीन, ब्रिटेन

Pfizer vaccine is safe for kids

लंदन: विश्व के प्रत्येक देशों में कोरोना के नए स्ट्रेन्स का प्रभाव बच्चों पर सबसे ज्यादा रहेगा इस बात की चिंता बनी हुई है।

इसीलिए कम उम्र के बच्चों में वैक्सीन लगवाने के प्रयास भी चल रहे है।

इसी के चलते अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइज़र की वैक्सीन (Pfizer) को ब्रिटेन के मेडिसिन रेगुलेटरी बॉडी ने 12- 15 साल के

बच्चों को लगवाने की छूट दे दी है।

रेगुलेटरी ऑथोरिटी ने इस वैक्सीन को इस आयु वाले समूहों के लिए बिल्कुल सेफ बताया है।

ऑथोरिटी ने कहा- “हमने इस वैक्सीन का 12 से 15 साल की उम्र के बच्चों में सफल ट्रायल किया है.

ये वैक्सीन इस आयु समूह के लिए पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावकारी पाई गई है.

यह भी पढ़ें- Corona vaccine for kids: क्या बच्चों के लिए नेजल स्प्रे रहेगा अच्छा? जानें

इसमें किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं दिखा है।”

इसके बावजूद यह देश की कमेटी पर निर्भर है की वे इस आयु के बच्चों के लिए वैक्सीनशन की छूट देगी या नही।

यह ट्रायल 2000 बच्चों पर किया गया है और साइड इफेक्ट का भी बहुत अच्छे से ख्याल रह गया है।

जब वैक्सीन का ट्रायल ककया गया तब इसमें 2000 बच्चों को शामिल किया गया था।

Pfizer vaccine is safe for kids

कमीशन ऑन ह्यूमन मेडिसिन के चेयरमैने प्रोफेसर सर मुनीर पीरमोहम्मद ने बताया की ”
बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल करते वक्त हमने साइड इफेक्ट्स का विशेष ध्यान रखा है।

Pfizer को लेकर अमेरिका में भी इसकी छूट दे दी गयी है:-

US में भी 12 वर्ष के बच्चों को pfizer वैक्सीन लगवाने की छूट दे दी गयी है।

अमेरिका में 2000 से अधिक वॉलंटियर्स पर यह ट्रायल किया गया

और उसके आधार पर फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने यह बताया कि फाइजर वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है।

तथा इसे 12 से 15 साल के बच्चों व किशोरों को मजबूती से सुरक्षा देता है।

फाइजर और इसके जर्मन पार्टनर बायोएनटेक ने हाल ही में यह अनुमति मांगी है कि यूरोपीय संघ के बच्चों को भी वैक्सीनेशन की अनुमति मिले।

इसी के अलावा मॉडर्ना वैक्सीन भी 12 से 17 वर्ष के आयु समूह के लिए बेहद कारगर है।

यह खबर हाल ही में आई है कि मॉडर्ना वैक्सीन 12-17 आयु समूह के बच्चों के लिए बेहद ही कारगर साबित हुई है।

कंपनी का कहना है कि इस आयु समूह में उनकी वैक्सीन सिंप्टोमेटिक इंफेक्शन रोकने में 100 प्रतिशत कारगर रही है.

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker