भारत

आंतरिक सुरक्षा मामलों के पंजाब के डीआईजी ने संभावित आतंकी हमले की दी थी चेतावनी

नई दिल्ली, 24 दिसम्बर ()। पंजाब के पुलिस महानिदेशक (आंतरिक सुरक्षा) ने पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) की ओर से संभावित हमले को लेकर अलर्ट किया था।

लुधियाना कोर्ट विस्फोट के एक दिन बाद, को आंतरिक सुरक्षा मामलों के पुलिस महानिदेशक की ओर से पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को लिखे एक पत्र की प्रति प्राप्त हुई है, जिसमें एलईटी की ओर से संभावित हमले को लेकर चेताया गया था।

सूत्रों ने कहा, पत्र में संकेत दिया गया था कि आतंकवादियों का संभावित लक्ष्य रक्षा, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, पुलिस प्रतिष्ठान और अदालतें हो सकती हैं।

यह अलर्ट 30 नवंबर को डीआईजी, आंतरिक सुरक्षा ने एजेंसियों और पुलिस विभाग को भेजा था।

इनपुट में कहा गया था, एक केंद्रीय एजेंसी द्वारा साझा किए गए एक ताजा इनपुट के अनुसार, आईएसआई ने लश्कर-ए-तैयबा को शकरगढ़ (पाकिस्तान) में दो सप्ताह के कमांडो प्रशिक्षण के बाद भारत में करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से सिख व्यक्तियों की आड़ में पांच आतंकवादियों को घुसपैठ करने का काम सौंपा है। इसके साथ ही उन्हें आगे के काम के लिए पठानकोट या गुरदासपुर जाने का निर्देश भी दिया गया।

पत्र में दो आतंकवादियों की पहचान मोहम्मद गुलजार माघरे और मोहम्मद सहजदा बंदे के रूप में हुई है।

पत्र में एक इस्लामिक आतंकवादी संगठन, मुस्लिम जनबाज फोर्स द्वारा जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों के शिविर पर एक ग्रेनेड हमले की योजना का उल्लेख किया गया था।

एक उच्च पदस्थ सूत्र ने पत्र के हवाले से कहा कि पुलिस को तुरंत चौबीसों घंटे मजबूत काउंटर उपाय और उपयुक्त निवारक और एहतियाती कदम उठाने की सलाह दी गई थी।

पत्र में कहा गया था, एजेंसियों को बीएसएफ के साथ समन्वय में भारत-पाकिस्तान सीमा पर रक्षा की दूसरी पंक्ति की समीक्षा करने और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पड़ने वाले मार्गों और अंतरालों (गैप्स) की लगातार निगरानी करने के लिए कहा जाता है।

डीआईजी (आंतरिक सुरक्षा) ने पत्र में सुझाव दिया था कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संवेदनशील और नदी के पास गैप्स के माध्यम से किसी भी प्रवेश को कवर करने के लिए सभी सड़कों, सीमा क्षेत्र की ओर जाने वाले मार्गों पर विशेष रूप से चौबीसों घंटे के सशस्त्र नाका की तैनाती सुनिश्चित की जानी चाहिए।

लुधियाना में गुरुवार को हुए विस्फोट में एक व्यक्ति की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। एनआईए और अन्य एजेंसियां घटना की जांच कर रही हैं।

एकेके/एएनएम