भारत

उत्तराखंड में बारिश बंद, चार धाम यात्रा फिर शुरू, अब तक 54 व्यक्तियों की मौत

नई दिल्ली, 21 अक्टूबर ()। उत्तराखंड में बारिश के कारण उत्पन्न हुई आपदा से अब तक 54 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। अलग अलग हादसों में 19 व्यक्ति जख्मी भी हुए हैं। बारिश थमने के बाद अब एक बार फिर उत्तराखंड में चार धाम यात्रा शुरू हो गई है। हरिद्वार और ऋषिकेश से सार्वजनिक एवं निजी वाहनो से श्रद्धालु चारधाम यात्रा के लिए के लिए रवाना हो रहे हैं। वहीं बद्रीनाथ में अभी भी बादल छाए हुए हैं। यहां सड़क मार्ग अभी भी अवरुद्ध हैं।

देवस्थानम बोर्ड के मुताबिक केदारनाथ, गंगोत्री और यमनोत्री में यात्रा शुरू कर दी गई है। केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर सेवा सुचारू हो गई है। गुरुवार को चारों धामों में मौसम ठंडा है लेकिन बारिश नहीं हो रही है।

बदरीनाथ धाम हेतु राष्ट्रीय राजमार्ग अवरूद्ध होने के कारण बुधवार को यात्रा शुरू नहीं हुई थी। जोशीमठ जिलाधिकारी हिमाशु खुराना एवं उपजिलाधिकारी कुमकुम जोशी ने सड़क मार्ग का निरीक्षण किया। इसके बाद बताया गया कि तीर्थ यात्रियों को जोशीमठ, पीपलकोटी आदि जगहों पर रोका गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग गुरुवार से टंगड़ी,बेनाकुली, लामबगड़, आदि स्थानों में मलवा आने से अवरूद्ध था। हालांकि अब अधिकांश स्थानों से मलबा हटा दिया गया है जिससे ज्यादातर अवरुद्ध मार्ग अब खुल चुके हैं।

उधर बरसात के बाद अल्मोड़ा हाईवे का एक बड़ा हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। इस हिस्से में क्षतिग्रस्त हाईवे टूटकर नदी में बह गया। पैदल चलने तक का रास्ता नहीं बचा। हल्द्वानी से अल्मोड़ा व अल्मोड़ा से रानीखेत और बागेश्वर जाने वाले कई रास्ते टूट गए हैं कई स्थानों पर मलबा गिर जाने से वाहनों की आवाजाही ठप हुई है।

इस बीच केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह उत्तराखंड पहुंचे हैं। वह उत्तराखण्ड में आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे।

देवस्थानम बोर्ड के डा. हरीश गौड़ ने बताया कि उत्तराखंड चारधामों के सभी मंदिरों देवस्थानमों में निरंतर नित्य प्रतिदिन पूजा-अर्चना चल रही है। कपाट खुलने से अभी तक दो लाख के लगभग तीर्थयात्री चारधाम पहुंच चुके हैं।

उत्तराखंड के कई अन्य स्थानों पर पर्यटकों के फंसे होने की सूचना है। पर्यटकों को सुरक्षित निकालने के लिए जिला अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गढ़वाल और कुमाऊं के विभिन्न आपदाग्रस्त क्षेत्रों का निरीक्षण किया है। गुरुवार को वह केंद्रीय गृह मंत्री के साथ आपदा ग्रस्त क्षेत्रों का हवाई निरीक्षण करेंगे।

जीसीबी/आरजेएस

Niharika Times We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications