भारत

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मुठभेड़ में मारे गए आतंकी ने आत्मसमर्पण से कर दिया था इनकार (लीड-2)

श्रीनगर, 24 दिसम्बर ()। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में शुक्रवार को एक मुठभेड़ में मारे गए एक आतंकवादी ने आत्मसमर्पण करने से इनकार कर दिया था और इसके बजाय उसने सुरक्षा बलों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी थी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई।

पुलिस ने कहा कि अनंतनाग के बिजबेहरा क्षेत्र के मोमिनहॉल अरवानी गांव में एक आतंकवादी की मौजूदगी के संबंध में एक विशिष्ट इनपुट के आधार पर, पुलिस और सेना की पहली राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस द्वारा एक संयुक्त घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया गया था।

पुलिस ने कहा, तलाशी अभियान के दौरान, जैसे आतंकवादी की मौजूदगी का पता चला, उसे आत्मसमर्पण करने के पर्याप्त अवसर दिए गए। हालांकि, उसने आत्मसमर्पण करने से इनकार कर दिया और इसके बजाय संयुक्त तलाशी दल पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसकी जवाबी कार्रवाई में मुठभेड़ हुई।

मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादी की पहचान कुलगाम के सहपोरा निवासी शहजाद अहमद सेह के रूप में हुई है और उसका शव घटनास्थल से बरामद कर लिया गया है।

बयान में कहा गया है, पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार, मारा गया आतंकवादी प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ा आतंकवादी था और कई आतंकी मामलों में शामिल समूहों का हिस्सा था।

वह 19 अक्टूबर, 2020 को अनंतनाग में चंदपोरा, कनेलवान के जम्मू-कश्मीर पुलिस इंस्पेक्टर, मोहम्मद अशरफ भट की हत्या में शामिल था। इसके अलावा वह 29 अक्टूबर, 2020 को कुलगाम के वाईके-पोरा में तीन भाजपा कार्यकर्ता और साथ ही 9 अगस्त, 2021 को अनंतनाग के लाल चौक पर एक भाजपा सरपंच और उनकी पत्नी की हत्या में भी शामिल था।

पुलिस ने कहा, इसके अलावा, आतंकवादी 4 दिसंबर, 2020 को सगम कोकरनाग में जिला विकास परिषद के उम्मीदवार अनीस-उल-इस्लाम गनी पर हमले में शामिल था और 25 जुलाई 2021 को कुलगाम के खुदवानी क्षेत्र में शमीस्पोरा क्रॉसिंग पर एक पुलिस कांस्टेबल से हथियार छीनने में शामिल था। इसके अलावा, वह अनंतनाग और कुलगाम क्षेत्रों में सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर ग्रेनेड फेंकने की विभिन्न घटनाओं और हमलों में शामिल था।

उसके पास से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद, एक एके-47 राइफल, दो एके मैगजीन, 40 एके राउंड और एक ग्रेनेड बरामद किया गया है। बरामद सभी सामग्री को आगे की जांच के लिए केस रिकॉर्ड में ले लिया गया है।

एकेके/एएनएम

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें निहारिका टाइम्स हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Niharika Times Android Hindi News APP