जयपुरभारतराजस्थान

राजस्थान के बीसलपुर और जवाई बांध में पानी की आवक शुरू: मौसम विभाग ने 13 सितम्बर को भारी बारिश की चेतावनी दी

इन चारों शहरों में पीने के पानी के दो बड़े बांध बीसलपुर और जवाई बांध में पानी की आवक शुरू हो गई है। प्रदेश में आज भी सिरोही, पाली, जोधपुर, बूंदी, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ समेत कई जगह बारिश हुई।

राजस्थान के बीसलपुर और जवाई बांध में पानी की आवक शुरूप , मौसम विभाग ने 13 सितम्बर को भारी बारिश की चेतावनी दी

राजस्थान में बीते दो-तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश से जयपुर, अजमेर, टोंक और पाली की जनता को थोड़ी राहत मिली। इन चारों शहरों में पीने के पानी के दो बड़े बांध बीसलपुर और जवाई बांध में पानी की आवक शुरू हो गई है। प्रदेश में आज भी सिरोही, पाली, जोधपुर, बूंदी, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ समेत कई जगह बारिश हुई। इससे मौसम खुशनुमा हो गया और तापमान में भी गिरावट आई।

मौसम विभाग के मुताबिक वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर एरिया सक्रिय है। साथ ही, पूर्वी राजस्थान के ऊपर सक्रिय लो प्रेशर एरिया के साथ चक्रवातीय गतिविधियां और प्रभावशाली होकर साइक्लोन में तब्दील हुई है। वहीं अरब सागर से लेकर गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ से होते हुए ओडीशा-बंगाल की खाड़ी तक ट्रफ लाइन गुजर रही है। इसके प्रभाव के कारण अगले 15 सितम्बर से राजस्थान में तेज बारिश की गतिविधियां शुरू हो सकती हैं, जो करीब एक सप्ताह तक जारी रहेगी।

जवाई कैनाल के अधिशाषी अभियंता

(एक्सईएन) नन्दकिशोर बलोटिया ने बताया कि जवाई में नेच्यूरल रिसोर्स से पिछले दो दिन से थोड़ा-थोड़ा पानी आने लगा है। इसके अलावा बांध के कैचमेंट एरिया में भी बारिश से बांध में पानी आया है। इसके अलावा बांध से पानी लाने के लिए उदयपुर जिले में बने सेई बांध की कैनाल से पानी आज से छोड़ना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि सेई से 526 में से 50 फीसदी पानी 263 एमसीएफटी पानी जवाई में छोड़ा जाएगा। इससे पाली की लोगों के पीने के पानी की किल्लत को कुछ हद तक दूर किया जा सके।

यह भी पढ़े : सिलोकोसिस बीमारी से पीड़ित मरीजों के लिए कोरोना आया काल बनकर, घरों में रहने के कारण रुक गयी सांसे

प्रदेश के बड़े बांधों में शुमार बीसलपुर बांध टोंक सहित जयपुर, अजमेर जिलों की लाइफ लाइन है। इस बांध पर इन तीनों जिलों की करीब 50 लाख की आबादी निर्भर है। इससे रोजाना बीसलपुर बांध से करीब 900 एमएलडी पानी दिया जाता है, लेकिन बांध में पानी की कमी से अभी रोजाना 25-30 एमएलडी पानी की कटौती की जा रही है। गुजरे दो दिन से बीसलपुर बांध के कैचमेंट एरिया तथा भीलवाड़ा में हो रही तेज बारिश से बांध में पानी की आवक बढ़ने लगी है। सुबह 8 बजे तक बीते 24 घंटे में बीसलपुर बांध में 10 सेमी पानी की आवक हुई है। जो इस सीजन में एक दिन में सबसे अधिक आवक है। इस साल बीसलपुर बांध में उसके कैचमेंट एरिया में बारिश कम होने से पानी की आवक काफी कम हुई है। इस साल जून 2021 में बांध में पानी का न्यूनतम स्तर 309.36 आरएल मीटर था। अभी तक हुई बारिश के बाद यह बढ़कर हाईएस्ट 310.82 आरएल मीटर तक रहा था। जो अभी 310.73 आरएल मीटर पर पहुंच गया है । यह आंकड़ा भी पिछले दो दिनों से थोड़ा सुधरा है। दो दिन पहले तो आंकड़ा करीब 310.60 आरएल मीटर ही था। रोजाना एक सेमी पानी पेयजल में जा रहा है। बांध परियोजना के एक्सईएन मनीष बंसल ने बताया कि बांध में अभी पानी की आवक दो दिन से पहले के मुकाबले ठीक बनी हुई है। अभी त्रिवेणी का गेज 3.50 मीटर चल रहा है।

13 सितंबर तक उदयपुर संभाग में बारिश की संभावना

जयपुर मौसम विभाग की माने तो 13 सितम्बर को उदयपुर संभाग के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है। विभाग ने उदयपुर, चितौड़गढ़, राजसमंद और सिरोही जिलों में तेज बारिश की संभावना जताई है। साथ ही इन जिलों और उनके आस-पास के क्षेत्रों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer