भारत

सेंटा बन पुलिस अंकल जब पहुंचे बच्चों के बीच

लखनऊ, 25 दिसम्बर ()। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में यूपी पुलिस की एक अनोखी मुहिम शहर के मॉलों में देखने को मिली। यूपी 112 के जवान बच्चों के बीच सेंटा क्लॉज बनकर पहुंचे। उन्हें उपहार दिया और बेहतर जीवन की दुआएं भी।

अपने बीच नए अंदाज में सेंटा क्लॉज को पाकर बच्चों ने भी खूब मस्ती की और यूपी-112 के जवानों ने खेल-खेल में कॉमिक बुक के सहारे बच्चों को डायल 112 की सेवाओं के बारे में जानकारी दी। पुलिस कर्मियों ने बुजुर्गों और महिलाओं से भी संवाद कर उन्हें 112 की सवेरा और नाइट एस्कॉर्ट सेवा की जानकारी साझा की।

राजधानी के फीनिक्स प्लासियो, सहारागंज, फन और वेव मॉल में क्रिसमस पर जवान सेंटा बनकर पहुंच गए। इससे पहले कैथ्रेडल चर्च में हुए कार्यक्रम में सभी पुलिस कर्मियों को सेंटा क्लॉज की वेशभूषा दी गई। जहां उन्होंने बच्चों के साथ खूब सेल्फियां लीं। इस मौके पर सेंटा ने बच्चों को पॉकेट कॉमिक किताबें भी दीं, जिसमें कार्टून के माध्यम से बताया गया है कि नागरिक कब और कैसे यूपी-112 की सहायता ले सकते हैं। हजरतगंज में कैथ्रेडल चर्च से शुरू होकर शहर के विभिन्न शॉपिंग मॉल में यूपी-112 द्वारा मित्र पुलिसिंग का संदेश दिया गया। बताया कि पुलिस कैसे मित्र बनकर मदद करती आ रही है।

यूपी पुलिस की आपातकालीन सेवाओं ने लोगों और बच्चों को इस बारे में जागरूक करने के लिए अपने दोपहिया और चार पहिया वाहन पीआरवी भी तैनात किया। जिससे नागरिक जान सकें कि आपातकालीन सेवा कैसे काम करती है। बच्चों की कॉमिक बुक में घटनाओं के माध्यम से 112 की योजनाओं की जानकारी दी गयी है। कॉमिक में छोटे- छोटे स्लोगन जैसे डरने की नहीं है बात पुलिस आपके साथ। फोन उठायें, आपातकाल नम्बर लिखे गए हैं।

यूपी 112 के एडीजी अशोक कुमार सिंह ने व्यक्तिगत रूप से कैथ्रेडल में 112 जागरूकता अभियान का दौरा किया और नागरिकों के साथ बातचीत कर उन्हें बताया कि कैसे और कब जरूरत पड़ने पर आपातकालीन सेवा की मदद ली जा सकती है। व्यापारियों के लिए भी शुरू की गई 112 कि लिंक सेवा के बारे में भी जानकारी दी गई।

विकेटी/एएनएम