आज दुनियाँ भर में मनाया जा रहा हैं लोकतंत्र दिवस Democracy day
आज दुनियाँ भर में मनाया जा रहा हैं Democracy day

आज पूरी दुनियाँ में मनाया जा रहा हैं Democracy day, जानिए क्या हैं इस साल की थीम

- आज के दिन यानि 15 सितंबर को प्रतिवर्ष पूरी दुनियाँ में अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) के रूप में मनाया जाता हैं। लोकतंत्र का अर्थ हैं जनता से, जनता के लिए, जनता के द्वारा चुनी गई सरकार। मतलब यहाँ कोई राजा नहीं कोई तानाशाह नहीं। अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) पूरे विश्व में लोकतंत्र की स्थिति की समीक्षा करने का अवसर प्रदान करता है। सुशासन पद्धति को दुनिया के आखिरी छोर तक स्थापित करना अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) का उद्देश्य है।

साल 2007 में संयुक्त राष्ट्र (United Nations) महासभा ने विश्व में लोकतंत्र को बढ़ावा देने और उसे मजबूत करने के उद्देश्य से 15 सितंबर के दिन को अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) के रूप में घोषित किया था। हर साल पूरी दुनियाँ में लोकतंत्र के सिद्धांतों को बढ़ावा देने और बनाए रखने के उद्देश्य से 15 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) के रूप में मनाया जाता हैं। 15 सितंबर 2008 को पहली बार अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) मनाया गया।

हर वर्ष अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) की एक अलग थीम होती हैं। इस साल की थीम हैं कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) से लोगों का बचाव करना। यह साल अब तक बहुत बुरा रहा हैं, लाखों लोग कोरोना महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं। ऐसे में इस साल की अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस (Democracy day) की थीम लोगों की जिंदगी बचाना है।

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, यहां लगभग 60 करोड़ मतदाता अपने मत का प्रयोग करके सरकार चुनते हैं। दुनिया में दो प्रकार की लोकतंत्र प्रणाली है। एक संसदीय शासन प्रणाली और दूसरी राष्ट्रपति शासन प्रणाली। दोनों ही लोकतांत्रिक प्रणालियों में जनता अपने मताधिकार का प्रयोग करके अपने देश का जनप्रतिनिधि चुनती है जो जनता और देश के लिए के लिए काम करे। भारत, कनाडा, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में संसदीय शासन प्रणाली लागू है। जबकि अमेरिका में राष्ट्रपति शासन प्रणाली लागू है। राष्ट्रपति शासन प्रणाली में सारे निर्णय राष्ट्रपति स्वयं लेता हैं। जबकि संसदीय शासन प्रणाली में राष्ट्रपति को ये शक्ति प्राप्त नहीं होती।

More Stories
कलेक्टर अंशदीप
सरहदी इलाकों के दौरे पर पहुंचे जिला कलक्टर, जवानों का बढाया हौसला