भारत के आनंद यादव ने 2022 एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर बॉक्सिंग चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई

Sabal Singh Bhati
3 Min Read

नई दिल्ली, 3 मार्च ()। युवा भारतीय मुक्केबाज आनंद यादव ने गुरुवार को जॉर्डन की राजधानी अम्मान में जारी 2022 एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैंपियनशिप में क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

आनंद ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अंतिम-8 दौर में जगह बनाई है। आनंद ने 54 किग्रा युवा पुरुष पहले दौर के मैच में एकतरफा फैसले के आधार पर कजाकिस्तान के असलान असलानोव को मात दी।

भारतीय और कजाक मुक्केबाज के बीच के इस जोरदार मुकाबले की शुरुआत में दोनों के बीच भारी मुक्कों का आदान-प्रदान हुआ। आनंद ने हालांकि अच्छी डिफेंस टेक्निक का प्रदर्शन किया और साथ ही साथ सही समय पर मुक्के बरसाकर अंक हासिल किए। जैसे-जैसे मुकाबला आगे बढ़ा, भारतीय मुक्केबाज ने कमान संभालनी शुरू की और कजाक मुक्केबाज पर दबदबा कायम करते हुए एक तरफा जीत हासिल की।

बाद में, टूर्नामेंट के पिछले संस्करण में रजत पदक जीतने वाले विजेता वंशज यूथ मेन कटेगरी में स्थानीय खिलाड़ी अब्दुल्ला अलम्हारात के खिलाफ 63.5 किग्रा भार वर्ग अपनी चुनौती शुरू करेंगे।

लड़कों के जूनियर वर्ग में, रवि सैनी ने बुधवार देर रात खेले गए 48 किग्रा भार वर्ग के पहले दौर के मैच में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अलसेद्रानी अली बदर के खिलाफ साहसिक प्रदर्शन किया। रवि के आक्रामक इरादे और जोरदार हमले ने रेफरी को मैच के दूसरे राउंड में ही मुकाबला रोकने के लिए मजबूर कर दिया। रवि सैनी ने इस तरह एक आसान जीत के साथ क्वार्टर फाइनल में आराम से प्रवेश कर लिया।

दूसरी ओर, बुधवार को ही 52 किग्रा भार वर्ग के शुरूआती दौर के मुकाबले में भारत के जॉन लापुंग किर्गिस्तान के इस्यानोव निजामेदीन के खिलाफ 2-3 से हार गए।

भारत ने एशियाई युवा और जूनियर चैंपियनशिप के लिए 50 सदस्यीय दल जॉर्डन भेजा है। इस दल में जूनियर और यूथ दोनों वर्ग के 25-25 मुक्केबाज शामिल हैं।

16 मार्च तक चलने वाले इस महाद्वीपीय आयोजन में जोरदार प्रतिस्पर्धा होने की उम्मीद है क्योंकि इसमें भारत के अलावा, ईरान, कजाकिस्तान, मंगोलिया, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान सहित 21 देशों के 352 मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं। फाइनल 13 और 14 मार्च को खेला जाएगा।

दुबई में 2021 में आयोजित एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैंपियनशिप के पिछले संस्करण के दौरान, भारतीय दल ने 14 स्वर्ण सहित 39 पदक जीते थे।

आरजे/एएनएम

Share This Article