जम्मू व् कश्मीर

एक घण्टे के अंतराल में जम्मू कश्मीर में तीन जगह संदिग्ध ड्रोन दिखाए देने पर BSF ने की फायरिंग

एक हफ्ते पहले पुलिस ने यहां पास के सीमावर्ती कनचक इलाके में पांच किलोग्राम आईईडी सामग्री ले जा रहे एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया था.

एक घण्टे के अंतराल में जम्मू कश्मीर में तीन जगह संदिग्ध ड्रोन दिखाए देने पर BSF ने की फायरिंग

श्रीनगर. जम्‍मू-कश्‍मीर में संदिग्‍ध ड्रोन दिखाई देने का सिलसिला लगातार जारी है. गुरुवार देर रात भी जम्मू-कश्मीर के सांबा जिले में तीन अलग-अलग स्थानों पर संदिग्ध पाकिस्तानी ड्रोन मंडराते देखे गए. अधिकारियों ने बताया कि ये ड्रोन रात करीब 8:30 से 9:30 के बीच बारी-ब्राह्मण, चिलाद्या और गगवाल इलाकों में एक ही समय पर देखे गए. इनमें से दो ड्रोन आर्मी कैंप और आईटीबीपी कैंप के पास देखे गए. सुरक्षाबलों की ओर से की गई फायरिंग के बाद तीनों ड्रोन वहां से बचकर निकल गए.

यह भी पढ़े, सोनिया-ममता की हुई चाय पर चर्चा को लेकर विपक्ष की बढ़ी उम्मीदे, देखे तस्वीर

ये ड्रोन एक ऐसे समय देखे गए हैं जब करीब एक हफ्ते पहले पुलिस ने यहां पास के सीमावर्ती कनचक इलाके में पांच किलोग्राम आईईडी सामग्री ले जा रहे एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया था. अधिकारियों ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने पाकिस्तान की ओर लौट रहे एक ड्रोन पर चिलाद्या में कुछ गोलियां चलाई. अधिकारियों ने कहा कि अन्य दो ड्रोन बारी ब्राह्मणा और गगवाल में जम्मू-पठानकोट राजमार्ग पर संवेदनशील सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर मंडराने के तुरंत बाद आसमान से गायब हो गए.

ड्रोन हमले को किया गया था नाकाम: 

इससे पहले 23 जुलाई को जम्मू कश्मीर पुलिस ने जम्मू जिले के सीमावर्ती इलाके में पांच किलोग्राम वजन की विस्फोटक सामग्री (आईईडी) ले जा रहे ड्रोन को मार गिराया था. बताया गया था कि ड्रोन में लगभग तैयार अवस्था में पांच किलोग्राम आईईडी सामग्री थी जिसमें विस्फोट से पहले सिर्फ तारों को जोड़ना बाकी था.

ड्रोन छह पहियों वाला हेक्जा-एम-कॉप्टर था और उसमें जीपीएस तथा उड़ान को नियंत्रित करने वाला उपकरण भी लगा था. पुलिस की तरफ से कहा गया था कि उन्होंने संभावित आईईडी विस्फोट को रोक दिया. ड्रोन से जिस आईईडी को गिराया जाना था उसके तार जम्मू वायुसेना स्टेशन के हवाईअड्डा से मिली विस्फोटक सामग्री से मेल खा रहे थे, कहा गया था कि इससे पुष्टि होती है कि जम्मू एयरबेस पर आईईडी गिराने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल हुआ था. एयरबेस पर पिछले महीने के आखिर में दो ब्लास्ट हुए थे.

अधिकारियों ने बताया कि पुलिस अन्य सुरक्षा बलों के साथ घटनास्थल पर गहन तलाशी के लिए रवाना हो गई है. बता दें कि पिछले शुक्रवार को जम्‍मू-कश्‍मीर के कनचक इलाके में सुबह के समय ड्रोन दिखाई दिया था, जिसे जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस ने मार गिराया था. अभी इस ड्रोन की जांच चल ही रही थी कि शाम को जम्‍मू में दो और ड्रोन दिखाई पड़े.

पूंछ सेक्‍टर में मिला था पाकिस्‍तानी बैलून:

इन दो संदिग्‍ध ड्रोन के अलावा लाइन ऑफ कंट्रोल के पास पुंछ सेक्‍टर में PIA (पाकिस्तान इंटरनैशनल एयरलाइंस) लिखा हुआ एक बैलून भी मिला. इस बैलून में पाकिस्तान का झंडा बना हुआ है. जम्‍मू-कश्‍मीर में 27 जून को भारतीय वायुसेना स्‍टेशन पर हुए हमले में ड्रोन के इस्‍तेमाल के बाद से लगातार सीमा पर ड्रोन देखे जा रहे हैं.

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer