जम्मू व् कश्मीररक्षा / सुरक्षा

कश्मीर : 12 घंटों के अंदर 2 अलग-अलग मुठभेड़ों में 4 आतंकी ढेर

श्रीनगर, 25 दिसम्बर (आईएएनएस)। दक्षिण कश्मीर में शनिवार को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच दो अलग-अलग मुठभेड़ों में 12 घंटों के भीतर चार आतंकवादी मारे गए।

पुलिस और सुरक्षा बलों ने अवंतीपोरा के त्राल इलाके में एक आतंकवाद रोधी अभियान में दो आतंकवादियों को मार गिराया, जबकि शोपियां में भी पुलिस और सुरक्षा बलों की मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए, जिससे पिछले 12 घंटों में मरने वाले आतंकियों की संख्या चार हो गई है।

दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के चौगाम इलाके में शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के दो आतंकवादी मारे गए।

पुलिस ने कहा कि शोपियां के चौगाम गांव के पास आतंकवादियों की मौजूदगी के संबंध में एक विशेष इनपुट पर कार्रवाई करते हुए, पुलिस, सेना की 44 राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा एक संयुक्त घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया गया था।

पुलिस के अनुसार, तलाशी अभियान के दौरान, जैसे ही आतंकवादियों की मौजूदगी का पता चला, उन्हें आत्मसमर्पण करने के पर्याप्त अवसर दिए गए। हालांकि, उन्होंने आत्मसमर्पण करने से इनकार कर दिया और इसके बजाय संयुक्त तलाशी दल पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसकी जवाबी कार्रवाई में मुठभेड़ शुरू हो गई।

मुठभेड़ मे मारे गए दोनों के शव घटनास्थल से बरामद किए गए हैं।

उनकी पहचान शोपियां जिले के बरारीपोरा निवासी सज्जाद अहमद चक और पुलवामा जिले के आचन लिटर निवासी राजा बासित याकूब के रूप में हुई है।

पुलिस ने कहा, पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार मारे गए दोनों आतंकवादियों को प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े आतंकवादियों के रूप में वर्गीकृत किया गया था और वे कई आतंकी मामलों में शामिल समूहों का हिस्सा थे। इसके अलावा, मारे गए आतंकवादी सज्जाद ने युवाओं को आतंकी संगठनों में शामिल होने के लिए प्रेरित करने और भर्ती करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

उनके पास से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद, दो एके-सीरीज राइफल, चार एके मैगजीन और 32 राउंड बरामद किए गए हैं।

एक अन्य मामले का जिक्र करते हुए पुलिस ने कहा, अवंतीपोरा के त्राल क्षेत्र के गांव हरदुमिर में आतंकवादियों की मौजूदगी के संबंध में पुलिस द्वारा प्राप्त विशेष सूचना के आधार पर, अवंतीपोरा पुलिस और सेना द्वारा एक संयुक्त घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया गया था।

यहां भी आतंकियों को आत्मसमर्पण करने के पर्याप्त अवसर दिए गए थे। हालांकि, उन्होंने इसे अनसुना किया और संयुक्त खोज दल पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसकी जवाबी कार्रवाई में एक मुठभेड़ शुरू हो गई।

इस मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए और उनके शव मुठभेड़ स्थल से निकाल लिए गए हैं। इनकी पहचान नदीम नजीर भट निवासी कोइल शिकारगाह, त्राल और राही रसूल भट उर्फ आदिल निवासी कनिपोरा ददसारा के रूप में हुई है।

पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार मारे गए दोनों आतंकवादियों को प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन एयूजीएच से जुड़े आतंकवादियों के रूप में वर्गीकृत किया गया था और वे पुलिस/सुरक्षा बलों के प्रतिष्ठानों पर आईईडी विस्फोट और ग्रेनेड हमलों सहित कई आतंकी अपराध के मामलों में शामिल समूहों का हिस्सा थे।

इस बीच, कश्मीर आईजीपी विजय कुमार ने बिना किसी नुकसान के तीन सफल अभियानों में 48 घंटे के भीतर पांच आतंकवादियों को खत्म करने के लिए पुलिस और सुरक्षा बलों की संयुक्त टीमों को बधाई दी है।

पुलिस ने संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

–आईएएनएस

एकेके/एएनएम