जम्मू व् कश्मीर

NIA करेगी जम्मू ड्रोन ब्लास्ट की जांच, क्या इसका इराक-सीरिया से है लिंक

NIA बीते रविवार को जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर हुए विस्फोट मामले की जांच करेगी. सोमवार को यह जांच केंद्रीय गृहमंत्रालय ने NIA को सौंपने का फैसला लिया है।

NIA करेगी जम्मू ड्रोन ब्लास्ट की जांच, क्या इसका इराक-सीरिया से है लिंक

जम्मू. NIA बीते रविवार को जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर हुए विस्फोट मामले की जांच करेगी. सोमवार को यह जांच केंद्रीय गृहमंत्रालय ने NIA को सौंपने का फैसला लिया है। जांच में यह पाया गया कि विस्फोट में RDX का इस्तेमाल किया गया है। इस हमले में दो लोग घायल हुए थे। बताया जा रहा है कि विस्फोट के चलते कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन यह इंफ्रास्ट्रक्चर को बड़ी हानि पहुंचा सकता था।
NIA सूत्रों ने जानकारी देते हुए कहा है कि इस घटना में क्वाड काप्टर्स ड्रोन का इस्तेमाल किया गया है। इराक और सीरिया में इससे पहले इनका इस्तेमाल सुरक्षाबलों पर हमले के लिए किया जाता था।
जो नमूने जम्मू में घटनास्थल से इकट्ठा किए गए है उन्हें दिल्ली लाया गया है।

यह भी पढ़े, जम्‍मू के सैन्‍य कैंप के ऊपर दिखे ड्रोन, जवानों ने की फायरिंग, निशाना चुका

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार, जांचकर्ता इस तलाश करने की कोशिश रहे थे कि ड्रोन जम्मू के आसपास के इलाकों से लॉन्च किए गए थे या नही।
वैसे भारतीय वायुसेना अभी सावधानी बरत रही है, ताकि इस तरह की घटनाएं भविष्य में घटनाएं दोबारा ना हों।
इसी के साथ सभी स्टेशन्स पर हाई अलर्ट जारी घोषित कर दिया गया है। जब रविवार सुबह यह दो धमाके हुए तो एक ने छत को थोड़ा नुकसान पहुंचाया जबकि, दूसरा खुले इलाके में गिरा था।

CNN न्यूज18 को सूत्रों ने जानकारी दी थी कि इस घटना के पीछे जैश-ए-मोहम्मद का हाथ हो सकता है।
उन्होंने यह भी कहा कि इस संगठन को किसी अन्य संस्था से भी समर्थन मिलने की संभवना है, क्योंकि ऐसा हमला ‘पाकिस्तानी सेना या ISI की सक्रियता के बगैर नहीं हो सकता.’
यह धमाके रविवार को सुबह 1:40 पर 6 मिनट के अंतर से हुए।

RDX का हुआ तंग इस्तेमाल:

सूत्रों की जानकारी के अनुसार विस्फोट में RDX का इस्तेमाल हुआ था। उन्होंने बताया कि सैंपल आगे टेस्ट के लिए भेजे गए हैं और हर IED डिवाइस में करीब 1.5 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल हुआ है। जम्मू और कश्मीर के DGP दिलबाग सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का एक सदस्य 6 किग्रा IED के साथ गिरफ्तार हुआ है. उन्होंने कहा है कि ड्रोन हमले की जांच के दौरान हुई इस गिरफ्तार से ही एक और बड़ा हमला टल गया है।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker