महाराष्ट्र

नवी मुंबई हवाई अड्डे के नामकरण का हुआ विरोध, प्रदर्शन करने पहुँचे हज़ारों की संख्या में लोग

नवी मुंबई में एयरपोर्ट के नाम को लेकर हंगामा हो रहा है की एयरपोर्ट का नाम किसके नाम पर रखा जाए। स्थानीय लोग और बीजेपी ने तय किया है कि एयरपोर्ट का नाम दिवंगत कार्यकर्ता डी बी पाटिल के नाम पर रखा जाए।

नवी मुंबई हवाई अड्डे के नामकरण का हुआ विरोध, प्रदर्शन करने पहुँचे हज़ारों की संख्या में लोग

ठाणे. नवी मुंबई में एयरपोर्ट के नाम को लेकर हंगामा हो रहा है की एयरपोर्ट का नाम किसके नाम पर रखा जाए। स्थानीय लोग और बीजेपी ने तय किया है कि एयरपोर्ट का नाम दिवंगत कार्यकर्ता डी बी पाटिल के नाम पर रखा जाए। जबकि शिवसेना हवाई अड्डे का नाम पार्टी संस्थापक बाल ठाकरे के नाम पर रखना चाहती है।
वहीं गुरुवार को हज़ारों की संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए। ये सब सिडको भवन का घेराव करना चाहते थे। सिडको भवन के घेराव की आशंका को देखते हुए कानून व्यवस्था के मद्देनजर बृहस्पतिवार को यातायात परिवर्तित करने का निर्णय लिया।
पुलिस ने पहले ही उन्हें वहां जाने से रोक दिया जिसके चलते ये सभी बेलापुर के नवी मुंबई महानगर पालिका कार्यालय के सामने इकट्ठा होकर एयरपोर्ट को दिनकर बालू एयरपोर्ट नाम देने की मांग करने लगे।

यह भी पढ़े, फिलीपींस के राष्ट्रपति ने वैक्सीन नही लगवाने वालो को दी धमकी, कहा या तो वैक्सीन लगवाए या भारत चले जाएं

बीजेपी विधायक प्रशांत ठाकुर ने सिडको घेराव आंदोलन से पहले राज्य सरकार से निवेदन किया उन्होंने कहा, ‘सरकार हमारी मांग पर ध्यान दे और नवी मुंबई अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे को दीनकर बालू पाटिल का नाम दे. उन्होंने अपने संपूर्ण जीवन में यहां के लोगों के लिए अनेकों काम किए थे, जिसके चलते उन्हें ये सम्मान दिया जाना चाहिए. काफी लंबे समय से ये मांग चल रही है सरकार उसे मान कर विवाद को खत्म कर सकती है.’

उधर बीजेपी के एक और विधायक महेश भलाड़ी ने बोले, ‘बाला साहब का नाम और किसी जगह दीजिये , इस एयरपोर्ट डीवी पाटिल का नाम होना चाहिए. ये एयरपोर्ट पुणे और पालघर में होता तो हम मांग नहीं करते. नवी मुंबई का डेवलेपमेंट डीवी पाटिल जी की देन है. राजा को राजा जैसा रहना चाहिए था, उनको कोरोना काल में ये करने की जरूरत क्या थी।’

महाराष्ट्र सरकार और सिडको ने ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का नाम बाल ठाकरे के नाम पर रखने की घोषणा की थी, लेकिन स्थानीय नेताओं की मांग है कि इसका नामकरण डी बी पाटिल के नाम पर किया जाए जिन्होंने लोगों के अधिकारों के लिए संघर्ष किया था।

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker