राजनीति

वेतन व अन्य मांगों को लेकर दिल्ली निगम कर्मचारियों का सोमवार को विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली, 8 मई ()। दिल्ली नगर निगम में वेतन को लेकर आए दिन समस्याएं खड़ी होती रहती हैं। इसी बीच पूर्वी दिल्ली नगर निगम के शिक्षक संघ ने 9 मई को निगम के खिलाफ मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। पूर्वी निगम में कुल 50 हजार कर्मचारी हैं, वहीं पांच हजार शिक्षक हैं।

नगर निगम शिक्षक संघ के मुताबिक, पिछले पांच महीने की सैलरी, चार वर्षों से शिक्षक समाज का एरियर लम्बित है और निगम लगातार भुगतान करने में असफल रहा है। वहीं क्षेत्रीय स्तर पर निगम शिक्षकों की समस्याओं को अनदेखा कर रहा है।

संघ की मांग है कि पांच महीने का वेतन तुरन्त जारी किया जाए। 2019 में अध्यापकों की परिवीक्षा काल पूर्ण होने के उपरांत उनकी लम्बित फाइलों को तत्काल बहाल किया जाए। विभाग द्वारा सभी अध्यापकों का एसिसमेन्ट किसी एनजीओ द्वारा कराया जा रहा है जिसे तुरन्त निरस्त किया जाए और अध्यापकों के क्षेत्रीय अंत: क्षेत्रीय स्वेक्षिक स्थानान्तरण प्रक्रिया को शीर्घ ही आरम्भ किया जाए।

हालंकि संघ की ओर से बताया गया कि, निगम के अधिकारियों द्वारा कहा गया है कि 22 मई तक दिसंबर महीने का वेतन दे दिया जाएगा, क्योंकि दिल्ली सरकार की ओर से बकाया पैसा नहीं मिला है।

दरअसल इससे पहले भी शिक्षकों को वेतन और पेंशन नहीं मिलने के लिए पूर्वी दिल्ली नगर निगम के मेयर श्याम सुंदर अग्रवाल दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। उनके मुताबिक यदि दिल्ली सरकार निगम का बकाया पैसा दे दे तो हम अपने कर्मचारियों को वेतन समय पर दे सकेंगे।

एमएसके/एसकेपी