अलवर

अवैध ब्लास्टिंग के कारण 100 फिट ऊंचा व 60 फिट चौड़ा पहाड़ गिरा, 2 डंपर व 2 पोकलेन मशीनें दबी

अवैध खनन को रोकने के लिए प्रशासन, पुलिस व माइनिंग विभाग के अधिकारियों की संयुक्त टीम बना रखी है। इसके बावजूद अवैध खनन जारी है।

अवैध ब्लास्टिंग के कारण 100 फिट ऊंचा व 60 फिट चौड़ा पहाड़ गिरा, 2 डंपर व 2 पोकलेन मशीनें दबी

अलवर. अलवर के रामगढ़ के ओडेला गांव में गुरुवार दोपहर को 100 फ़ीट पहाड़ टूटकर गिर गया। तकरीबन 50 से 60 फीट चौड़ाई में पहाड़ का हिस्सा गिरने से वह पर चल रहे अवैध खनन में लगे 2 डंपर और 2 पोकलेन मशीन दब गई।
गनीमत रही कि वहां काम कर रहे 10-12 मजदूर पहाड़ गिरने से पहले ही बाहर आ गए थे।

यह भी पढ़े, तालाब मे डूबने से एक ही परिवार की तीन बच्चीयों की हुई मौत, एक कि जान बची

जिसके कारण किसी की जान की हानि नही हुई अचानक हुए इस हादसे ने एक बार और अवैध खनन करने वालो की पोल खोल दी है, पुलिस-प्रशासन के सामने रोज दिन-रात हंप्र और ट्रैक्टर निकलते हैं, पर इनपर शिकंजा कसने वाला कोई नहीं। रात को पहाड़ों में विस्फोट (अवैध ब्लास्टिंग) भी खूब होते हैं। पुलिस से लेकर प्रशासन के अफसरों ने इसकी खुली छूट दे रखी है।

मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी:

रामगढ़ थाने में तैनात एएसआई नरेन्द्र सिंह पहाड़ टूटने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे। तब तक वहां काम कर रहे लोग भाग चुके थे। असल में यह अवैध खनन था। ग्रामीणों ने बताया कि पहले कभी यहां लीज होती थी। लीज की जगह से काफी दूरी तक पहाड़ अवैध खनन की चपेट में आ चुका है। जिम्मेदार अधिकारी अवैध खनन को रोकने में पूरी तरह फेल हैं।

जिम्मेदार अधिकारी चुप:

खनन विभाग के जिम्मेदार अधिकारी इस घटना के बाद भी चुप हैं। सरकार ने  खनन को रोकने के लिए प्रशासन, पुलिस व माइनिंग विभाग के अधिकारियों की संयुक्त टीम बना रखी है। इसके बावजूद अवैध खनन जारी है। फिलहाल घटनास्थल पर मलबे में दबी मशीनों को पुलिस जब्त करेगी। अवैध खनन कौन कर रहा था, इसकी जानकारी पुलिस को नहीं मिल पाई है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer