जयपुर

श्री नृसिंहजी का तीन मंजिला मंदिर चांदपोल बाजार में बनेगा

श्री नृसिंहजी के मंदिर का पुनर्निर्माण होगा। इसके लिए रविवार को संत—महंतों के सान्निध्य में मंदिर पुनर्निर्माण का भूमि पूजन और शिला पूजन किया गया। यह मंदिर तीन मंजिला शिखरबंद होगा।

श्री नृसिंहजी का तीन मंजिला मंदिर चांदपोल बाजार में बनेगा 

जयपुर. चांदपोल बाजार के नींदड़ रावजी का रास्ता में मंदिर श्री नृसिंहजी का पुनर्निर्माण होगा। इसके लिए रविवार को संत—महंतों के सान्निध्य में मंदिर पुनर्निर्माण का भूमि पूजन और शिला पूजन किया गया। यह मंदिर तीन मंजिला शिखरबंद होगा।

इसके भूतल पर गर्भगृह में नृसिंह भगवान, शिव पंचायत, श्याम बाबा, अग्रसेन महाराज की प्रतिमाएं प्राण प्रतिष्ठित करवाई जाएगी। प्रथम तल पर सत्संग हॉल होगा। वहीं द्वितीय तल पर भोजनशाला और तृतीय तल पर विभिन्न कार्यों में उपयोग के लिए कक्ष बनाए जाएंगे।

यह भी पढ़े, दलित युवती की बेरहमी से की हत्या, दीपावली पर होने वाली थी विदाई

मंदिर श्री नृसिंह जी अग्रवाल पंचायत समिति के अध्यक्ष चेतन अग्रवाल ने बताया कि मंदिर का पुनर्निर्माण कार्य करीब 10 माह में पूरा करने का लक्ष्य तय किया है। यह मंदिर तीन मंजिला होगा।

यहां स्थित प्राचीन कुआं को संरक्षित रखते हुए मंदिर की छत का पानी वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के साथ कुएं से जोड़ा जाएगा। मंदिर की सुरक्षा के लिए हाईटेक सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। मंदिर में प्रयोग होने वाली पूजन सामग्री, फूलमाला का उपयोग हो, इसके लिए खाद बनाने की मशीन लगाई जाएगी।

समिति के उपाध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल ने बताया की गलता पीठाधीश्वर अवधेशाचार्य, गोविंददेवजी मंदिर महंत अंजन कुमार गोस्वामी, शुक सम्प्रदाय पीठाधीश्वर अलबेली शरण, महामंडलेश्वर पुरुषोत्तम भारती, सरस निकुंज के प्रवक्ता प्रवीण बड़े भैया, गोविंददेव मंदिर प्रवक्ता मानस गोस्वामी, गलता पीठ के युवाचार्य स्वामी राघवेन्द्र ने वेद मंत्रोच्चार के बीच पूजित शिलाओं को नींव में रखा।

पंडित उमेश व्यास के आचार्यत्व में 11 विद्वानों ने गणेश, वास्तु पूजन करवाया। इस मौके पर हेरिटेज नगर निगम महापौर मुनेश गुर्जर, जयपुर व्यापार महासंघ अध्यक्ष सुभाष गोयल, पार्षद कपिला कुमावत, पार्षद शहजाद नबी आदि भी मौजूद रहे।

ये होंगे वार्षिक कार्यक्रम कोषाध्यक्ष ओमप्रकाश अग्रवाल ने बताया की मंदिर में काफी वर्षो से नरसिंह लीला का आयोजन हो रहा है। इसे आगे भी जारी रखा जाएगा। श्रीमद् भागवत कथा, नानी बाई को मायरो, वार्षिकोत्सव श्याम बाबा का कीर्तन, अग्रसेन कथा, अन्नकूट महोत्सव, पौष बड़ा महोत्सव, सावन में सहस्त्र घट अभिषेक सहित विभिन्न धार्मिक आयोजन किए जाएंगे।

 

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer