जयपुर

अगस्ता हेलीकॉप्टर बना मनहूस, जिसमें बाल बाल बचे थे गहलोत, नही मिल रहा कोई खरीददार

अगस्ता हेलिकॉप्टर से बाल बाल बचे थे गहलोट, उस हेलिकॉप्टर को अब तक कोई खरीददार ही नहीं मिल रहा है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान सरकार इस अगस्ता हेलिकॉप्टर को अब

अगस्ता हेलीकॉप्टर बना मनहूस, जिसमें बाल बाल बचे थे गहलोत, नही मिल रहा कोई खरीददार

जयपुर. CM अशोक गहलोत (ashok gehlot) 10 साल पहले जिस अगस्ता हेलिकॉप्टर (Helicopter) से बाल बाल बचे थे, उस हेलिकॉप्टर को अब तक कोई खरीददार ही नहीं मिल रहा है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान सरकार इस अगस्ता हेलिकॉप्टर को अब 12वीं बार बेचने का प्रयास कर रही है,

लेकिन बीजेपी राज में 30 करोड़ की कीमत में खरीदे गए इस हेलीकॉप्टर को खरीदने के लिए अभी तक कोई शख्स सामने नहीं आया है। आपको बता दें कि पिछली बार इसकी रिजर्व प्राइस 4.5 करोड़ रखी थी, लेकिन इस कीमत पर यह नहीं बिका। पता चला है कि अब इसकी कीमत और कम करने की तैयारी है।

यह भी पढ़े, डीजीपी की मेल आईडी को हैक करने को लेकर आई यह खबर, कोलंबिया के आईपी एड्रेस से हुई थी हैकिंग

राजस्थान सरकार ने बीजेपी राज के वक्त 2005 में इसे 30 करोड़ में खरीदा था। दिसंबर 2011 से यह हेलिकॉप्टर स्टेट हैंगर पर खड़ा है और धीरे-धीरे इसकी कीमत घटती ही जा रही है। पहले इस हेलिकॉप्टर के सरकार को 14 करोड़ मिल रहे थे, लेकिन सौदा अटक गया। पिछले 8 साल में इसे हेलिकॉप्टर को बेचने के लिए लगातार प्रयास हुए, लेकिन यह हेलिकॉप्टर नहीं बिका। अगस्ता कंपनी ने इस पुराने हेलिकॉप्टर के बदले कुछ और पैसा लेकर नया हेलिकॉप्टर देने की भी पेशकश की थी, लेकिन यह प्रस्ताव भी खारिज कर दिया गया था।

बीजेपी राज के वक्त 2005 में इसे 30 करोड़ में खरीदा गया था। यह हेलीकॉप्टर दिसंबर 2011 से स्टेट हैंगर पर खड़ा है और धीरे-धीरे इसकी कीमत गिरते जा रही है। इस हेलिकॉप्टर की कीमत पहले 14 करोड़ थी, लेकिन तब सौदा अटक गया था। इस मनहूस हेलीकॉप्टर को पिछले 8 साल से बेचने के लिए लगातार प्रयास किये गए है, लेकिन यह नहीं बिका। अगस्ता कंपनी ने इस पुराने के बदले नया हेलिकॉप्टर या पैसा लेकर नया हेलिकॉप्टर देने की भी पेशकश की थी, लेकिन यह प्रस्ताव भी खारिज कर दिया गया था।

इस मनहूस हेलीकॉप्टर को बेचने के लिए 8 साल से किए जा रहे हैं प्रयास:

आपको बता दें कि वसुंधरा राजे सरकार के पहले कार्यकाल में इसे राजस्थान सरकार की ओर से खरीदा गया था। वहीं दिसंबर 2011 से यह हेलिकॉप्टर स्टेट हैंगर में खड़ा है और धीरे-धीरे इसकी कीमत घटती ही जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार पहले इस हेलिकॉप्टर के सरकार को 14 करोड़ मिल रहे थे, लेकिन सौदा अटक गया। पिछले 8 साल में इसे हेलिकॉप्टर को बेचने के लिए लगातार प्रयास हुए, लेकिन यह हैलिकॉप्टर नहीं बिका। अगस्ता कंपनी ने इस पुराने अगस्ता के बदले कुछ और पैसा लेकर नया हेलिकॉप्टर देने की भी पेशकश की थी। यह प्रस्ताव भी खारिज कर दिया गया।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer