जयपुर

हनीट्रेप के जाल में फंसाकर एक पोस्टमेन के जरिये आर्मी के लेटर ले रही थी पाकिस्तानी महिला एजेंट, पुलिस ने किया गिरफ्तार

हनीट्रेप के जाल में फंसाकर डॉक्यूमेंट्री ले रही थी। इस पोस्टमेन को आर्मी इंटेलीजेंस व राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर गिरफ्तार कर लिया गया है।

हनीट्रेप के जाल में फंसाकर एक पोस्टमेन के जरिये आर्मी के लेटर ले रही थी पाकिस्तानी महिला एजेंट, पुलिस ने किया गिरफ्तार

जयपुर. खुफिया एजेंसी पाकिस्तान की महिला एजेंट एक पोस्टमेन को हनीट्रेप के जाल में फंसाकर डॉक्यूमेंट्री ले रही थी। इस पोस्टमेन को आर्मी इंटेलीजेंस व राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर गिरफ्तार कर लिया गया है।

वह जयपुर में आर्मी की आने वाली डाक के फोटो खींच कर व्हाट्सऐप कर देता था। महिला पिछले 6 महीने से व्हाटसऐप कॉल पर उससे बातें करती थी। उसे साथ जयपुर में घूमने और रूकने का झांसा दे रही थी।

यह भी पढ़े, गैंगस्टर पपला गुर्जर की बिगड़ी तबियत, हाई सिक्योरिटी में अजमेर के जेएलएन अस्पताल में लाया गया

पुलिस इंटेलिजेंस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने बताया कि खेड़ापा जोधपुर के रहने वाले 27 वर्षीय भरत बावरी को गिरफ्तार किया गया।
वह जयपुर में रेलवे डाक सेवा में लगा हुआ था और यहां पर आर्मी की डाक की छंटनी करता था।

उन्होंने बताया कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी की एजेंट महिला ने उन्हें हनीट्रेप के जाल में फंसा लिया था। आर्मी की डाक की फोटो खींचकर वह
पाकिस्तानी हैंडलर को व्हाटसऐप पर भेज देता था। जब आर्मी इंटेलिजेंस व जयपुर पुलिस को डाटा लीक होने की जानकारी मिली तब दोपहर को उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

जांच की तो पता लगा कि करीब 6 महीने पहले मोबाइल के फेसबुक मैसेंजर पर पाकिस्तानी एजेंट महिला का मैसेज मिला। जिसके बाद दोनों के बीच बातचीत होने लगी। फिर कुछ दिन बाद दोनों व्हाटसऐप पर वॉयस कॉल व वीडियो कॉल पर बातें करने लगी।

दोनों अश्लील बातें करने लग गए। महिला ने उसे खुद को पोर्ट ब्लेयर में नर्सिंग के बाद MBBS की तैयारी करने की बात कहीं। उसने झांसा दिया कि वह अपने रिश्तेदार का जयपुर में अच्छी सी यूनिट में ट्रांसफर करवाना चाहती है।

उसने यूनिट में ट्रांसफर के बहाने आर्मी के डाक की फोटो मंगवानी शुरू कर दी। महिला ने उसे जयपुर में आकर मिलने व साथ घूमने का झांसा दिया। उसे खुद के फोटो भी मोबाइल में भेजे।
जासूस महिला ने भरत काे पूरी तरह से जाल में फंसा लिया था। उसने आर्मी के पत्रों की फोटो भेजने के लिए कहा तो वह गुपचुप तरीके से डाक पत्रों के लिफाफे खोलकर अंदर के लेटर की फोटो खींच कर व्हाटसऐप पर भेजने लग गया। इतनी ही नहीं भरत ने एक नई मोबाइल की सिम लेकर नंबर उसे दे दिए और व्हाटसऐप चलाने के लिए ओटीपी नंबर भी भेज दिए थे। अब इन नंबरों के जरिए जासूस महिला नए जवानों को शिकार बना सकती है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer