जयपुर

दांतली ओवरब्रिज की 99 करोड़ में बनाई गई सड़क हुई क्षतिग्रस्त, राहगीरों को करना पड़ रहा परेशानी का सामना

दांतली रेलवे क्रॉसिग के बंद होने के कारण राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, इसलिए सरकार ने 99 करोड़ खर्च कर यहां ओवरब्रिज बनवाया, ताकि बिना तकलीफ राहगीरों का आना-जाना लगा रहे।

दांतली ओवरब्रिज. जयपुर. निर्माण कार्य करते समय चाहे वह भवन हो या शहर, हमेशा यह ध्यान रखा जाता है कि उसकी गुणवत्ता कैसी है। साथ ही कार्यशैली पर अधिकारियों की मॉनिटरिंग भी जरूरी होती है। मगर जब भी इन बातों का ध्यान नहीं रखा जाता है तो नतीजा घटिया निर्माण के रूप में सामने आता है।

गोनेर रोड पर स्थित दांतली ओवरब्रिज की सड़क पर ऐसा ही एक मामला देखने को मिला है। ओवरब्रिज की सड़क जगह-जगह से क्षतिग्रस्त होकर गड्ढे होने लग गए हैं। एक साल में ओवरब्रिज की सड़क की घटिया निर्माण की पोल गड्ढों ने खोल कर रख दी। ओवरब्रिज की क्षतिग्रस्त सड़क को जेडीए ने पेचवर्क कर इतिश्री की।

यह भी पढ़े, Jhunjhunu crime news: 22 लाख से भरे एटीएम को उखाड़ भागे चोर

JDA के अधिकारियों की देखरेख में करोड़ों रुपए की लागत से ओवरब्रिज का निर्माण किया गया, लेकिन ओवरब्रिज की सड़क एक साल में भ्रष्टाचार की पोल खोलते हुए नजर आ रही है। गोनेर रोड स्थित दांतली रेलवे क्रॉसिग के बंद होने के कारण राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, इसलिए सरकार ने 99 करोड़ खर्च कर यहां ओवरब्रिज बनवाया, ताकि बिना तकलीफ राहगीरों का आना-जाना लगा रहे। इस प्रोजेक्ट को धरातल पर लाने की जिम्मेदारी जेडीए को दी गई थी। वहीं जेडीए के अफसरों और ठेकेदारों ने सरकार की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

हादसों का डर स्थानीय लोगों ने बताया कि ओवरब्रिज की सड़क पहले भी क्षतिग्रस्त हो चुकी थी, जिसको पेचवर्क कर लीपापोती कर दी गई। वापस सड़क में गड्ढे होने से राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसकी शिकायत जेडीए अधिकारियों की गई, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा।

सीएम ने किया था लोकार्पण ओवरब्रिज का निर्माण 99 करोड़ रुपए की लागत से किया गया था। इसका लोकार्पण 28 सितंबर 2020 को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, सांसद रामचरण बोहरा, विधायक गंगा देवी ने किया था।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer