झुंझुनूराजस्थान

चिकित्सा विभाग ने की लापरवाही, एक ही महिला को 30 सेकंड के अंतराल में लगा दी डबल डोज

चिकित्सा विभाग के वैक्सीनेटर को जब अपनी गलती का अहसास हुआ तब तक बहुत देर हो चुकी थी. इसके बाद महिला को ऑब्जर्वेशन में रखा गया. जब महिला बिल्कुल स्वस्थ्य महसूस करने लगीं तब उन्हें भेज दिया गया.

चिकित्सा विभाग ने की लापरवाही, एक ही महिला को 30 सेकंड के अंतराल में लगा दी डबल डोज

झुंझुनूं: कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में वैक्सीन लगवाकर लाखों लोग खुद को सुरक्षित कर चुके हैं. वहीं बहुत सारे लोग अभी भी अपना नंबर आने का इंतजार कर रहे हैं. इसी बीच राजस्थान के झुंझुनूं से चिकित्सा विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. यहां वैक्सीन लगवाने पहुंची एक महिला के मात्र 30 सेकंड के अंदर दोनों डोज लगा दी गईं।

3 जुलाई को हुई घटना: 

ये घटना झुंझनूं के बाकरा गांव में 3 जुलाई को उस वक्त हुई जब गांव के सुरेंद्र कुमार जांगिड़ की पत्नी माया देवी टीका लगवाने शिविर में पहुंचीं. उस शिविर में दो लोग वैक्सीन लगा रहे थे. माया देवी जब रूम के अंदर पहुंची तो दोनों स्वास्थ्यकर्मियों को फोन पर बात करता पाया. इसके बाद वे वैक्सीन लगवाने के लिए दोनों के बीच में रखे एक स्टूल पर बैठ गईं. जिसके बाद फोन पर बात कर रही एक महिला वैक्सीनेटर ने माया देवी को टीका लगा दिया. इस बात को 30 सेकंड भी पूरे नहीं हुए थे कि दूसरी महिला वैक्सीनेटर ने माया के दूसरे हाथ में कोरोना वैक्सीन लगा दी।

यह भी पढ़े, जीका वायरस ने रखे देश मे कदम, कोरोना के बाद अब इस बीमारी का मंडराया देश पर खतरा, नही है इसकी कोई दवा, जानें लक्षण व बचाव

फोन पर बात कर रहे थे वैक्सीनेटर:

इस दौरान माया देवी ने वैक्सीनेटर को रोकने का प्रयास भी किया, लेकिन फोन पर बात करने के कारण वैक्सीनेटर ने उनकी बात को अनसुना कर दिया, और टीका लगा दिया. जब वैक्सीनेटर को अपनी गलती का अहसास हुआ तब तक बहुत देर हो चुकी थी. इसके बाद महिला को ऑब्जर्वेशन में रखा गया. जब महिला बिल्कुल स्वस्थ्य महसूस करने लगीं तब उन्हें भेज दिया गया. लेकिन उससे भी बड़ी लापरवाही अब चिकित्सा विभाग की देखने को आ रही है. पांच दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक चिकित्सा​ विभाग ना तो मामले में कोई जानकारी दे रहा है और ना ही दोषियों पर कार्रवाई कर रहा है. सीएमएचओ डॉ. छोटेलाल गुर्जर खुद सवालों से बचते दिख रहे हैं.

घंटे भर आराम कराया, बात को भी छुपाया:

माया ने बताया कि दोनों ने कहा कि दो टीके लग गए तो कोई बात नहीं है. आप रूक जाओ और एक घंटे आराम कर लो. माया देवी को अभी तक कोई ज्यादा साइड इफेक्ट नहीं आया है. महिला के पति ने कहा कि उसके पत्नी के कुछ हुआ तो चिकित्सा विभाग जिम्मेदार होगा. दोनों वैक्सीनेटर एक बार तो सकते में आ गईं और बात को छुपाया गया कि एक महिला के दो टीका लगा दिए गए हैं. महिला के पति का कहना है कि ये बड़ी लापरवाही है. ऐसे किसी अन्य और के साथ नहीं होना चाहिए.

देर रात को इस संदर्भ में डॉ. गुर्जर ने आदेश जारी किए हैं. वहीं, जिला कलेक्टर यूडी खान ने भी मामले की अब तक की तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है. इसके अलावा खबर प्रसारित होने के बाद सीएमएचओ के निर्देश पर आरसीएचओ डॉ. दयानंदसिंह भी बीडीके अस्पताल (BDK Hospital) में भर्ती महिला मायादेवी से मिलने के लिए पहुंचे हैं.

डॉ. गुर्जर ने बताया कि उप स्वास्थ्य केंद्र हमीरवास की एएनएम सरिता द्वारा दूसरा डोज लगाने की बात सामने आई, जिसके बाद सीएमएचओ ने एएनएम सरिता को एपीओ कर दिया. सीएमएचओ डॉ. गुर्जर ने बताया कि टीकाकरण कार्यक्रम में लगे स्टाफ को विशेष सावधानी के लिए निर्देशित कर पाबंद किया है कि इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो.

महिला सीएमएचओ ने बताया कि दो डोज लगने वाली महिला बीडीके अस्पताल में स्वस्थ हैं. उसकी रिपोर्ट नॉर्मल आई हैं. आरसीएचसो डॉ. दयानंद सिंह ने अस्पताल पहुंच कर महिला से बातचीत कर स्वास्थ्य की जानकारी ली.

बता दें कि हमने कल खबर प्रसारित की थी कि बाकरा निवासी मायादेवी को 3 जुलाई को मोबाइल पर बातों में मशगूल एएनएम ने महज 30 सेकंड के दरमियान कोरोना वैक्सीनेशन की दो डोज लगा दी थी. कल ही इस महिला की तबियत बिगड़ गई थी, जिसे बीडीके अस्पताल में भर्ती करवाया था. खबर प्रसारित होने के बाद जिला कलेक्टर और सीएमएचओ एक्शन मोड में आ गए और उन्होंने मामले को गंभीरता से लिया है।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker