राजस्थान

अनलॉक-3: कोरोना को काबू कर अनलॉक हुआ राजस्थान, जानें किनमें मिली रियायतें

अनलॉक-3 एक जुलाई से शादी समारोह फिर शुरू होते दिख जाएंगे, लेकिन लोगों की सीमा पहले ही तय कर दी गई है। शादी में 40 से ज्यादा मेहमानों को नहीं बुलाया जा सकता है, वहीं कार्यक्रम को भी शाम चार बजे तक खत्म करना होगा।

अनलॉक-3: कोरोना को काबू कर अनलॉक हुआ राजस्थान, जानें किनमें मिली रियायतें

राजस्थान. राजस्थान में कोरोना के मामले घटने के बाद सरकार ने 28 जून की सुबह 5 बजे से प्रतिबंधों में ढील देने का फैसला किया है। इसके लिए सरकार ने नए दिशानिर्देश जारी किए हैं।इसके तहत 25 या अधिक कर्मचारियों वाले कार्यालय 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ खोलने की अनुमति होगी। जिन कार्यालयों में कम से कम 60 फीसदी कर्मचारियों को वैक्सीन की पहली खुराक मिली है, उन्हें 100 फीसदी कार्यबल के साथ खोलने की अनुमति है।

यह भी पढ़े, टीकाकरण की तेज गति भी भारत को तीसरी लहर से नहीं बचा सकती, जानें क्यों एक्सपर्ट्स ने चेताया

क्या रहेगा खुला:

सभी धार्मिक स्थलों को सुबह 5 बजे से शाम 4 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। इसके अलावा क्लबों में बाहरी खेल गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी जबकि टीकाकरण वाले लोगों के लिए इनडोर खेल गतिविधियों की अनुमति होगी। जिम और रेस्टोरेंट जिन्होंने अपने कम से कम 60 फीसदी कर्मचारियों को टीका लगाया है, उन्हें 3 अतिरिक्त घंटों के लिए खोलने की अनुमति दी जाएगी। पार्क सुबह 5 से 8 बजे तक खुले रहेंगे।

अनलॉक-3: क्या शादी समारोह में मिलेगी छूट:

गाइडलाइन में एक बड़ी घोषणा शादियों को लेकर भी कर दी गई है. अब एक जुलाई से शादी समारोह फिर शुरू होते दिख जाएंगे, लेकिन लोगों की सीमा पहले ही तय कर दी
गई है. शादी में 40 से ज्यादा मेहमानों को नहीं बुलाया जा सकता है, वहीं कार्यक्रम को भी शाम चार बजे तक खत्म करना होगा. इसके बाद शादी कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की अनुमति नहीं मिलेगी. अब सरकार की तरफ से कुछ पाबंदियां इसलिए रखी जा रही हैं क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर से मुक्ति मिली है, कोरोना अभी भी आस-पास ही है।

शादी-समारोह हेतु अधिकतम 40 व्यक्ति (25 आयोजनकर्ता का परिवार और अतिथि +10 बैण्ड-बाजे वाले + 5 अन्य व्यक्ति) की संख्या के साथ दी गई शर्तों के अनुसार सायं 4 बजे तक अनुमत होंगे।
विवाह से समारोह में किसी भी प्रकार के समारोह, डीजे, बारात-निकासी, प्रीतिभोज इत्यादि की अनुमति नहीं होगी।

नए वेरिएंट को लेकर चिंता:

जिस स्पीड से अब डेल्टा प्लस वेरिएंट फैलता दिख रहा है, उस वजह से कई राज्य फिर चिंता में आ गए हैं. एक बार के लिए मामले अभी ज्यादा नहीं है, लेकिन शुरुआती जांच के बाद कहा जा रहा है कि ये वरिएंट ज्यादा संक्रामक हो सकता है और शायद इसी के जरिए देश में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक भी दे. इसी बात को समझते हुए राजस्थान सरकार ने लोगों को रियायतें देना शुरू तो किया है, लेकिन पूरा राज्य खोलने का फैसला अभी नहीं लिया है. आने वाले दिनों में जब मामले और कम हो जाएंगे, तो और छूट मिलती दिख सकती हैं।

अनलॉक-3: संक्रमण के नए मामले आये सामने:

राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के शनिवार को 141 नए मामले सामने आए जबकि प्रदेश में इसी अवधि में संक्रमण से पांच और लोगों की मौत हो गई। चिकित्सा विभाग ने इसकी जानकारी दी। चिकित्सा विभाग के शनिवार शाम जारी आंकड़ों के अनुसार बीते चौबीस घंटे में राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के 141 नए मामले सामने आए हैं।

विभाग के एक अधिकारी के अनुसार इस दौरान प्रदेश में संक्रमण से पांच और रोगियों की मौत हो गयी, जिसके बाद राज्य में इस संक्रमण से अब तक 8910 लोगों की मौत हो चुकी है। आंकड़ों के अनुसार इस दौरान राज्य में 170 लोग संक्रमण से ठीक हुए हैं और अब राज्य में 1839 संक्रमित उपचाराधीन हैं।

अनलॉक-3: राजस्थान में 10.45 लाख लोगों का हुआ टीकाकरण:

वैसे अब कोरोना मामलों पर तो अंकुश लगा ही दिया गया है, इसके अलावा टीकाकरण की रफ्तार को भी काफी ज्यादा कर लिया है. शनिवार को राजस्थान में 10.45 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया. ये राजस्थान का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. ऐसे में इस खास मौके पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने तमाम चिकित्साकर्मियों को बधाई दी।

उन्होंने कहा कि यदि केंद्र सरकार से राज्य को निरंतर वैक्सीन उपलब्ध होती रहे तो विभाग प्रतिदिन 15 लाख लोगों का टीकाकरण करने की क्षमता रखता है. चिकित्सा मंत्री ने कहा कि राजस्थान ने कोरोना प्रबंधन से लेकर वैक्सीनेशन तक में देशभर में धाक जमाई है. देशभर में सबसे पहले 50 वैक्सीनेशन डोज राजस्थान में लगाए गए।

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker