राजस्थान

किसानों में भाजपा लेकर भारी नाराजगी, गहलोत ने ट्वीट कर कहा ये…

किसानों की आय दोगुनी करने का झूठा वादा एवं अब किसानों को विश्वास में लिए बिना किसान विरोधी कृषि कानून थोपकर खेती को बड़े व्यापारियों के हवाले करने के प्रयास को किसान पूरी तरह पहचान चुके हैं।

किसानों में भाजपा लेकर भारी नाराजगी, गहलोत ने ट्वीट कर कहा ये…

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कृषि कानूनों को लेकर केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि समय आने पर देश के किसान भाजपा को सबक सिखाने में पीछे नहीं रहेंगे.

 

गहलोत ने ट्विटर पर कहा कि मुजफ्फरनगर की किसान महापंचायत में उमड़ी किसानों की भारी भीड़ दिखाती है कि उत्तर प्रदेश और देश का किसान भाजपा से त्रस्त हो चुका है. राजस्थान में कल आए पंचायतीराज के नतीजों से साफ हो गया है कि किसानों में भाजपा के खिलाफ भारी नाराजगी है और वो भाजपा को सबक सिखाने के मूड में हैं.

यह भी पढ़े, सचिन पायलट के जन्मदिन के अवसर पर होगा पौधरोपण, 10 लाख पौधारोपण के रिकॉर्ड की मुहिम

पहले आय दोगुनी का झूठा वादा, अब कृषि कानून थोपे:

उन्होंने कहा कि पहले 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का झूठा वादा एवं अब किसानों को विश्वास में लिए बिना किसान विरोधी कृषि कानून थोपकर खेती को बड़े व्यापारियों के हवाले करने के प्रयास को किसान पूरी तरह पहचान चुके हैं। एनडीए सरकार की किसानों के प्रति सोच जगजाहिर है। समय आने पर देश के किसान भाजपा को सबक सिखाने में पीछे नहीं रहेंगे।

वहीं उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में डेढ़ वर्ष से लगातार अलग-अलग चरणों में चल रहे पंचायतीराज चुनावों के नतीजों के आंकड़े को तो झुठलाया नहीं जा सकता। अब तक भाजपा के 14 जिला प्रमुख बने हैं। पहले चरण में भाजपा के 443 और दूसरे चरण में 90 जिला परिषद सदस्य यानी कुल 533 जिला परिषद सदस्यों ने विजय हासिल की है। वहीं कांग्रेस के मात्र 5 जिला प्रमुख व पहले चरण में 352 व दूसरे चरण में 99 जिला परिषद सदस्य यानी कुल 451 सदस्य जीते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि NDA सरकार की किसानों के प्रति सोच जगजाहिर है. समय आने पर देश के किसान BJP को सबक सिखाने में पीछे नहीं रहेंगे.

 

 

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer