राजस्थान

शिलान्यास कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री का नाम गायब तो कार्यक्रम स्थगित

कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद ने जहां किया था पार्टी के ख़िलाफ़ निर्दलीय का प्रचार, वहाँ अधिकारिक कार्यक्रम में चाहते है भागीदारी

जैसलमेर – दो गुटों में बटी राजस्थान प्रदेश कांग्रेस की तरह जैसलमेर कांग्रेस में भी दो गुट हैं। लोक सभा चुनावों के बाद गुटों में बटी कांग्रेस एक दुसरें को निपटाने में जोर आजमाईश चल रही है। जहाँ नगर निकाय चुनाव में कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद गुट ने जैसलमेर में भाजपा के बागी पार्षदों के सहयोग से रूपाराम गुट को पटकनी दी थी, तो रुपाराम ने जिला पंचायती राज चुनाव में फकीर परिवार को चारो खाने चित कर फकीर गुट के सियासत की चूले तक हिला डाली।

पंचायती राज चुनाव में हुई हार को फकीर परिवार अभी तक पचा नही पाया है, इसलिए दोनों गुटों में आपसी टकराहट होती रहती है। इस टकराहट का ताजा उदाहरण नवसृजित ग्राम पंचायत कुछड़ी के पंचायत भवन के शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर देखने को मिला है। दोनों धड़ों की टकराव के कारण 24 अगस्त को होने वाला कार्यक्रम रद्द हो गया है।

पंचायत राज चुनाव में बगावत करने वाले कैबिनेट मंत्री के चारों भाइयों में एक अमरदीन फकीर ने सम पंचायत समिति सदस्य का निर्दलीय चुनाव का लड़ने के लिये मैदान में उतरे थे, जिनको कांग्रेस उम्मीदवार जानब खां ने हराया था। कांग्रेस उम्मीदवार जानब ने कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद पर पार्टी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार का प्रचार करने का आरोप भी लगाया था।

ग्राम पंचायत कुछड़ी पंचायत समिति सम के सदस्य जानब खान के क्षेत्र में आती है, जहाँ उन्होंने कैबिनेट मंत्री के भाई अमरदीन को हराया था। कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद ने यहाँ कांग्रेस पार्टी के ख़िलाफ़ निर्दलीय का प्रचार किया था, वहाँ के अधिकारिक कार्यक्रम में भागीदारी चाहते है।

नई ग्राम पंचायत कुछड़ी के पंचायत भवन का 24 अगस्त को शिलान्यास कार्यक्रम था। शिलान्यास की पट्टिका 23 अगस्त को सामने आई। इसमें कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद का नाम नहीं था। इसके बाद सरपंच पुष्पा ने सम पंचायत समिति के विकास अधिकारी को लेटर लिख कर शिलान्यास कार्यक्रम को निरस्त करने की मांग की।

इसके बाद 23 अगस्त को रात में ही पंचायत समिति सम के विकास अधिकारी का एक आदेश आता है कि विधायक रूपाराम धनदेव द्वारा 24 अगस्त को आयोजित होने वाले कुछड़ी ग्राम पंचायत के शिलान्यास कार्यक्रम व अन्य पंचायत के कार्यक्रम अगले आदेश तक स्थगित किए जाते हैं।

Sabal Singh Bhati

The Writer and Journalist.