जयपुरराजस्थान

किरोड़ी लाल मीणा ने मनाही के बाद भी किले पर फहराया मीणा समाज का झंडा, हिरासत में

किरोड़ी लाल मीणा ने मनाही के बाद भी आमागढ़ किले पर झंडा फहराया है. वह आमागढ़ किले में पूजा करना चाहते थे लेकिन पुलिस ने एहतियात बरतते हुए पहले ही वहां जाने पर रोक लगा दी थी.

किरोड़ी लाल मीणा ने मनाही के बाद भी किले पर फहराया मीणा समाज का झंडा, हिरासत में

जयपुर. राजस्थान के जयपुर में बीजेपी सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने मनाही के बाद भी आमागढ़ किले पर झंडा फहराया है. वह आमागढ़ किले में पूजा करना चाहते थे लेकिन पुलिस ने एहतियात बरतते हुए पहले ही वहां जाने पर रोक लगा दी थी.

आमागढ़ किले पर झंडा फहराने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. कांग्रेस विधायक रामकेश मीणा ने पहले कथित तौर पर आमागढ़ किले पर भगवा झंडा फाड़ दिया था जिसके बाद किरोड़ी लाल मीणा ने मीणा समाज का झंडा आमागढ़ किले पर फहराया. पुलिस किरोड़ी लाल मीणा को रोक पाती इससे पहले उन्होंने मनाही के बावजूद वहां झंडा फहरा दिया.

यह भी पढ़े, कैब चालक को बीच रास्ते में लड़की ने पीटा, बीच बचाव करने वाले शख्स पर भी जड़ दिए तमाचे

डॉ. किरोड़ी लाल ने शेयर किया वीडियो:

आपको बता दें कि डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने मीणा समाज का आमागढ़ में झंड़ा लगाने के बाद ट्वीट कर उसका वीडियो शेयर किया है। ट्वीट के साथ सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने अपनी गिरफ्तारी की भी जानकारी दी है। उल्लेखनीय है कि सांसद मीणा ने साफतौर पर आमागढ़ किले में जाकर पूजा करने की बात कही थी, लेकिन कांग्रेस समर्थित विधायक रामकेश मीणा की ओर से यहां कथित तौर पर भगवा झंड़ा फाड़ने की बात के बाद उठे विवाद के बाद पुलिस प्रशासन ने एहतियात के तौर यहां निषेधाज्ञा जारी कर रखी थी। साथ ही यहां प्रवेश पर रोक लगाई थी, लेकिन किरोड़ी लाल मीणा पुलिस को गच्चा देकर यहां पहुंचे और मनाही के बावजूद झंडा फहरा दिया।

क्या है आमागढ़ विवाद:

दरअसल बीते दिनों एक वीडियो वाय़रल हुआ था, जिसमें यह सूचना मिली थी कि कांग्रेस समर्थित विधायक रामकेश मीणा और उनके समर्थकों की ओर से वहां हिदूंवादी संगठन की ओर से पहले से लगाया हुआ भगवा झंड़ा फाड़कर फेंक दिया गया। इस संबंध में यह जानकारी मिली थी कि राजस्थान में मीणाओं का एक वर्ग अपने आप को हिंदू ना होने की बात कह रहा है। उनका दावा कर रहा है कि मीणाओं की एक अलग पहचान है और वे हिंदू नहीं हैं। लिहाजा यह वर्ग आरएसएस सहित अन्य हिंदू संगठन के खिलाफ भी दिख रहे हैं। इसी क्रम में मीणा समाज की ऐताहासिक धरोहर मानी जाने वाले आमागढ़ फोर्ट पर झंड़ा हटाने को लेकर विवाद शुरू हुआ। वायरल वीडियो के बाद इस पर राजनीती तेज हो गई। वहीं बीजेपी सांसद बार- बार मीणा समाज को हिंदूत्व की दुहाई दे रहे है। वहीं दूसरा वर्ग इस मामले में उनके खिलाफ दिखाई दे रहा है।

विवाद के बाद सांसद मीणा ने आमागढ़ पहुंचने की बात कही:

उल्लेखनीय है कि जहां इस विवाद के बाद पुलिस की ओर से वर्ग संघर्ष के भय के कारण आमागढ़ किले पर निषेधाज्ञा जारी करनी पड़ी। वहीं सासंद मीणा लगातार ये बात बोलते आ रहे थे कि वो किले पर झंड़ा फहराएंगे। साथ ही वहां पूजा भी करेंगे। पता चला है कि आखिरकार भाजपा के राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो गए हैं। साथ ही झंड़ा लगा दिया है। इसके बाद पुलिस की ओर से एहतियातन उन्हें हिरासत में लिया गया है।

पूर्व सीएम राजे ने ट्वीट कर कहा – मीणा की तुरंत हो रिहाई:

इधर आमागढ़ से सांसद मीणा की गिरफ्तारी के बाद आरोप- प्रत्यारोप की राजनीति भी तेज हो गई है। पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने सरकार कोइस मामले में आड़े हाथों लिया है। राजे ने ट्वीट कर लिखा है कि “आमागढ़ क़िले के मामले में धर्म के नाम पर राजनीति कर रही कोंग्रेस को करारा जवाब देने वाले डॉ.किरोड़ी लाल मीणा की गिरफ़्तारी निंदनीय है।डॉ.मीणा को तुरंत रिहा किया जाय।”

Tina Chouhan

Author, Editor, Web content writer, Article writer and Ghost writer