नागौरराजस्थान

SP ने कहा है- इस तस्कर को पकड़ना नही, उड़ाना है। SHO और IO के एनकाउंटर की बात के ऑडियो वायरल

नागौर. नागौर जिले के सदर एसएचओ अंजू कुमारी व निलंबित इंटेलिजेंस अधिकारी के बीच हुई बातचीत का ऑडियो सामने आने के बाद एसपी अभिजीत सिंह ने एक्शन लेते हुए सदर एसएचओ अंजू कुमारी को लाइन हाजिर कर दिया। इस मामले में एसपी अभिजीत सिंह का कहना है कि उनकी सदर एसएचओ अंजू कुमारी से तस्कर मामले को लेकर ऐसी कोई बात नहीं हुई थी और ये गैर जिम्म्मेदाराना बयान था।

दरअसल, सदर पुलिस पर फायरिंग कर भागे तस्कर की 8 दिन पहले हुई गिरफ्तारी के मामले में सदर एसएचओ अंजू कुमारी और निलंबित इंटेलिजेंस अधिकारी भंवरलाल के बीच की बातचीत के 3 ऑडियो सामने आए हैं। इन ऑडियो के आने के बाद इस पूरे मामले में नया खुलासा हुआ है। सामने आया है कि पुलिस जिसे गिरफ्तारी बता रही थी असल में वो तस्कर का सरेंडर था। ऑडियो की बातचीत में सदर एसएचओ अंजू कुमारी निलंबित इंटेलिजेंस अधिकारी को ये कहती भी सुनाई दे रही है कि एसपी साहब ने कहा है कि इस तस्कर को पकड़कर थाने नहीं लाना है, इसे तो उड़ाना है।

ऑडियो से हुआ मामले का खुलासा

तस्कर गणेश राम की गिरफ्तारी के इस मामले में थाने के जिस इंटेलिजेंस अधिकारी भंवरलाल के कार्रवाई के टाइम तस्कर के साथ होने की बात सामने आई थी और जिसे उसकी तस्कर के साथ संलिप्ता के आधार पर निलंबित भी कर दिया गया था। असल में वो सदर SHO अंजू कुमारी के दबाव के बाद तस्कर को सरेंडर के लिए तैयार कर थाने लेकर आ रहा था।

इस दौरान इस बात की पूरी जानकारी वो फोन पर बार-बार सदर एसएचओ अंजू कुमारी को भी दे रहा था, लेकिन जैसे ही वो थाने पहुंचने वाला था, उससे पहले ही सदर एसएचओ अंजू कुमारी ने पुलिस टीम भेजकर बीच रास्ते में ही तस्कर गणेशराम को गिरफ्तार कर उसके साथ में इंटेलिजेंस अधिकारी भंवरलाल को भी पकड़ लिया।

पूर्व SHO का ऑडियो भी आया सामने

इंटेलिजेंस अधिकारी भंवरलाल के सस्पेंड होने के बाद पूर्व सदर SHO नंदराम वर्मा से बातचीत का ऑडियो भी सामने आया है। वर्मा भंवरलाल से कह रहे हैं कि मेरी डिप्टी से बात हो गई है, आप उनसे मिल लेना और लिखित में भी देना। वर्मा बोले- फायरिंग वाली बात जच नहीं रही। बुरड़ी ने कहा- फायरिंग नहीं हुई थी।

ये था मामला

दरअसल, 13 अगस्त को पुलिस और गाड़ी में आए तस्करों के बीच नागौर व बीकानेर जिले की सीमा में फायरिंग हुई थी। अलाय फाटक के पास पीछा कर रही पुलिस टीम ने तस्करों को रोका तो उन्होंने एक फायर किया था। इसके बाद बीकानेर सीमा में घुस गए। पीछा कर रही पुलिस व तस्करों के बीच पांचू क्षेत्र, हियादेसर, मुकाम में आमने-सामने फायरिंग हुई। इसके बाद तस्कर गाड़ी में फरार हो गए थे। सदर एसएचओ ने फायरिंग के मामले में श्रीबालाजी थाने में तस्कर के खिलाफ रिपोर्ट दी थी। 12 दिन बाद सदर SHO अंजू कुमारी ने बताया था कि पुलिस टीम पर फायरिंग करने वाले तस्कर सिंगड़ गांव निवासी गणेश पुत्र भूराराम जाट को पुलिस ने दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान उसके साथ गाड़ी में थाने का आसूचना अधिकारी भंवरलाल भी मौजूद था। जिसे अगले दिन तस्कर के साथ मिलीभगत की भूमिका को लेकर SP अभिजीत सिंह ने निलंबित कर दिया और जांच कराने की बात कही।

पढ़िए ऑडियो रिकॉर्डिंग

एसएचओ: संतोष का फोन आया, क्या कह रहा था?
बुरड़ी: वो गणेश आ गया, मैं 1 घंटे के अंदर लाता हूं।
एसएचओ: आवाज नहीं आ रही ?
बुरड़ी: गणेश आ गया है, उसको आधा घंटे में लेकर आ रहा हूं।
एसएचओ: लेकर आ रहा है या झूठ बोल रहा है, उसके पास ही है क्या?
बुरड़ी: मै आपसे झूठ क्यों बोलूंगा, परसों तो आपकी पूरी बात बताई थी।
एसएचओ: तुम्हारे साथ है क्या, कहां पहुंचा, कितना समय लगेगा?
बुरड़ी: आधे घंटे में ही आ रहा हूं।
एसएचओ: अभी थाने जाऊं क्या, अभी कवार्टर पर ही हूं।
बुरड़ी: मेम 5-7 मिनट में थाने आ रहा हूँ, भादणा फांटा से निकल गया।
एसएचओ:थाने ही आओगे क्या?
बुरड़ी: मैं लेकर आ रहा था, फिर टीम बीच में आड़े क्यों आ गई?
एसएचओ: इसको थाने नहीं लाना, एसपी साहब ने कहा है-इसे उड़ा दो।
बुरड़ी: पहले बोल देते. आपके निवेदन के बिना कोई काम नहीं किया।
(ऑडियो वायरल के बाद एसएचओ को लाइन भेज दिया।)

Sabal Singh Bhati

The Writer and Journalist.