राजस्थान में सियासी संकट के बाद ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव
राजस्थान में सियासी संकट के बाद ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव

राजस्थान में सियासी संकट के बाद ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव, 14 आईएएस अफसरों के तबादले

- राजस्थान में करीब एक महीने तक चला सियासी संकट अब थम चुका हैं। सियासी संकट के थमने के बाद राजस्थान की गहलोत सरकार ने ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव किया हैं। गहलोत सरकार ने 14 आईएएस अधिकारियों के तबादले कर दिए हैं। साथ ही 9 आरएएस अफसरों को भी एपीओ कर दिया हैं। 14 आईएएस अधिकारियों में 2 मुख्य सचिव स्तर के अधिकारियों का नाम भी शामिल हैं।

राज्य के कार्मिक विभाग की ओर से एक आदेश जारी किया गया हैं। आदेश के अनुसार गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह को ग्रामीण एवं पंचायती राज विभाग का जिम्मा सौंपा गया है। इसके अलावा ग्रामीण एवं पंचायत राज विभाग के मुख्य सचिव राजेश्वर सिंह को क्षेत्रीय जन जाति विकास विभाग जयपुर की जिम्मेदारी सौंपी गई है। आयोजना विभाग के प्रमुख शासन सचिव अभय कुमार गृह, गृह रक्षा एवं जेल के प्रमुख शासन सचिव का पद संभालेंगे। अभय कुमार को प्रमुख शासन सचिव परिवहन विभाग की भी जिम्मेदारी दी गई है। राजस्थान में सियासी संकट के समय भी गहलोत सरकार ने ब्यूरोक्रेसी में बदलाव करते हुए कई अधिकारियों के तबादले किए थे।

किस किस अधिकारी को कहां लगाया
-राजेश्वर सिंह – एसीएस क्षेत्रीय जनजाति विकास विभाग
– रोहित कुमार सिंह – एसीएस पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभाग
– अभय कुमार – प्रमुख शासन सचिव गृह, रक्षा एवं जेल
– नित्या के- एसडीएम टोंक
– अतुल प्रकाश- एसडीएम गढ़ी
– अभिषेक सुराणा – एसडीएम चौमूं,
– देशल दान – एसडीएम रामगंज मंडी
– शिल्पा सिंह – एसडीएम शाहपुरा
– रामप्रकाश – एसडीएम भवानी मंडी
– मोहम्मद जुनेद पीपी – एसडीएम झालावाड़
– मयंक मनीष – एसडीएम वल्लभनगर
– अभिषेक खन्ना – एसडीएम चुरू
– उत्साह चौधरी- एसडीएम मांडलगढ़
– अपर्णा गुप्ता – एसडीएम बड़गांव

इनके अलावा गहलोत सरकार ने 9 राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को भी एपीओ किया गया है। आरएएस अधिकारी अनिल कुमार, त्रिलोकचंद मीणा, मनीषा तिवारी, सुनील शर्मा प्रथम, रतनलाल योगी, जब्बर सिंह, हिम्मत सिंह, शैलेश सुराणा और चिमनलाल मीणा को राज्य सरकार ने एपीओ कर दिया है। राज्य में सियासी संकट के बाद गहलोत सरकार ने ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव किया हैं।

More Stories
Tik-Tok (टिकटोक) भारत में जल्द वापस आ सकता हैं
Tik-Tok भारत में वापस आ सकता हैं, ये कंपनी कर रही हैं खरीदने पर विचार