1400 कारीगरों ने तैयार किया भोज