देश विदेश

अपने नागरिकों के स्वास्थ्य की गारंटी में जुटा है चीन

बीजिंग, 13 अप्रैल ()। चीन एक बड़ी आबादी वाला देश होने के बावजूद स्वास्थ्य के क्षेत्र में नागरिकों को अच्छी सुविधाएं प्रदान कर रहा है। हाल के वर्षों में हमने इसमें लगातार सुधार देखा है। इसके साथ ही समय-समय पर चीन सरकार व स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से विभिन्न तरह की सुविधाएं प्रदान करने पर ध्यान दिया जाता रहा है। जाहिर है कि चीन सरकार व अन्य एजेंसियां यह अच्छी तरह जानती हैं कि लोगों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करना बहुत अहम है। पिछले दो वर्षों से कोविड-19 महामारी के कारण हर जगह के नागरिकों में स्वस्थ रहने की लालसा ज्यादा बढ़ गयी है। ऐसे में लोग अपने स्वास्थ्य पर काफी ध्यान दे रहे हैं। क्योंकि कोरोना के दौर में कोई भी बेवजह बीमार नहीं पड़ना चाहता है।

इस बीच चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने वर्ष 2030 तक महिलाओं और बच्चों के लिए स्वास्थ्य सेवा को बढ़ावा देने के लिए कई प्रमुख उपलब्धि हासिल करने की योजना तैयार की है। जैसा कि हम जानते हैं कि महिलाओं और बच्चों का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है। अगर एक मां स्वस्थ नहीं होगी तो उसका असर उसके बच्चों पर पड़ता है।

इसके मद्देनजर चीन सरकार की योजना है कि वर्ष 2030 तक, प्रति एक हजार बच्चों पर चिकित्सा संस्थानों में बाल रोग विशेषज्ञों और बिस्तरों की औसत संख्या क्रमश: 1.12 और 3.17 तक पहुंच जाए। ताकि अधिक से अधिक बच्चों को इसका लाभ मिले।

इसके साथ ही दावा किया जा रहा है कि वर्ष 2030 तक सर्वाइकल कैंसर स्क्रीनिंग हासिल करने वाली महिलाओं का अनुपात 70 प्रतिशत से अधिक हो जाएगा। वहीं एचआईवी/एड्स पीड़ित मां से बच्चों में संचरण की दर 2 फीसदी से कम रह जाएगी।

बताया जाता है कि चीन इन लक्ष्यों को पूरा करने के लिए गंभीर है। इसके तहत चीनी राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने हाल में जारी योजना में उपचार के साथ रोकथाम को एकीकृत करने के लिए जन-केंद्रित और समन्वित प्रयासों का आह्वान किया है। इसके लिए पारंपरिक चीनी चिकित्सा और पश्चिमी चिकित्सा दोनों का सहारा लिया जा सकता है।

चीन द्वारा शुरू की जा रही इस योजना का उद्देश्य मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करना, विवाह पूर्व और प्रसव पूर्व चिकित्सा परीक्षणों के कवरेज का विस्तार करना है। इसके अलावा छोटे बच्चों की प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने के लिए टीकाकरण अभियान को बढ़ावा देने पर भी जोर दिया गया है।

इससे पता चलता है कि चीन महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य पर खास ध्यान दे रहा है। क्योंकि जब देश के नागरिक स्वस्थ होंगे तो देश विकसित और समृद्ध होगा।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

एएनएम