देश विदेश

चीनी युवक वांग रेईश्वू की कहानी

बीजिंग, 9 मई ()। चीनी युवक वांग रेईश्वू इस साल चीन युवा 4 मई पदक के पुरस्कार पाने वाले लोगों में से एक है। यह चीनी युवकों के लिए सर्वोच्च पुरस्कार है। उन्होंने पार्ट टाइम ऐप्प की स्थापना की और 4.4 करोड़ लोगों को रोजगार के मौके दिये।

वांग रेईश्वू का जन्म् एक साधारण परिवार में हुआ। उन्होंने विश्वविद्यालय से स्नातक होने के बाद नौकरी की। इस बीच उन्हें पता लगा कि विश्वविद्यालयों में विद्यार्थियों के पास पार्ट टाइम नौकरी करने की बड़ी मांग है। तो उन्होंने सोचा यदि वह विद्यार्थियों के लिए एक औपचारिक प्लेटफार्म की स्थापना करते हैं, तो विद्यार्थी और आसानी से पार्ट टाइम नौकरी पा सकेंगे। इसलिए उन्होंने पार्ट टाइम ऐप्प खोलने का निर्णय लिया।

इस ऐप्प से विश्वविद्यालयों के विद्यार्थी इंटरनेट से आसानी से पार्ट टाइम नौकरी की खोज कर सकेंगे। वांग रेईश्वू को भी इस ऐप्प से 1 लाख चीनी युआन की वित्तपोषण पूंजी मिली।

वांग रेईश्वू ने कहा कि वे मानव संसाधन के सेवा क्षेत्र में आगे प्रयास करेंगे, ताकि और ज्यादा लोगों को नौकरी के मौके प्रदान कर सकेंगे। अब उन के ऐप्प के करीब 4 करोड़ प्रयोगकर्ता हैं, जो 14.7 अरब उद्यमों की सेवा कर सकता है।

कोविड-19 महामारी के दौरान वांग रेईश्वू ने समाज के परोपकार कार्य में भी संलग्न रहने लगे। उन्होंने महामारी रोधी कार्य के लिए 237 चिकित्सक सामान उत्पादन उद्यमों के लिए 16 हजार लोगों की भर्ती की और कारगर रूप से मानव संसाधन की कमी की समस्या को हल किया। और तो और वांग रेईश्वू ने शेयर कर्मचारी योजना भी पेश की और 90 से अधिक कारोबारों के लिए 4000 से ज्यादा शेयर कर्मचारियों का बंदोबस्त किया, जिसने कारगर रूप से महामारी की स्थिति में कारोबारों के श्रमिकों के अभाव की समस्या को हल किया।

वांग रेईश्वू ने कहा कि तकनीक से चीनी श्रमिक बाजार को बदलना उनकी प्रारंभिक इच्छा है। उन्होंने कहा कि वे व्यवहारिक कार्रवाइयों से संघर्ष करेंगे और तत्कालीन चीनी युवकों के चीनी सपना को साकार करने की पूरी कोशिश करेंगे।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

एएनएम