देश विदेश

तुर्की के राष्ट्रपति ने अल-अक्सा मस्जिद पर इजरायल के हमले की निंदा की

अंकारा, 18 अप्रैल ()। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने अपने फिलिस्तीनी समकक्ष महमूद अब्बास के साथ फोन पर बातचीत के दौरान यरुशलम में अल-अक्सा मस्जिद में नमाजियों के खिलाफ इजरायल की कार्रवाई की निंदा की है।

एर्दोगन ने रविवार को ट्विटर पर कहा, हमारी बातचीत के दौरान, मैंने कहा कि मैं अल-अक्सा मस्जिद में नमाजियों के खिलाफ इजरायल के हस्तक्षेप की कड़ी निंदा करता हूं और हम अल-अक्सा मस्जिद में खतरों के खिलाफ खड़े होंगे।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, तुर्की हमेशा फिलिस्तीन के साथ खड़ा होगा। इन घटनाओं को देखते हुए सभी फिलिस्तीनी समूहों को एकता और सुलह की दिशा में काम करने की जरूरत है।

पिछले हफ्तों में वेस्ट बैंक और पूर्वी यरुशलम में इजरायल और फिलिस्तीनियों के बीच तनाव बढ़ गया है, खासकर जब मुस्लिम पवित्र महीने रमजान के दौरान शुक्रवार को यहूदी फसह का त्योहार शुरू हुआ।

यरुशलम में अल-अक्सा मस्जिद परिसर में शुक्रवार को फिलिस्तीनियों और इजरायली पुलिस बलों के बीच संघर्ष में 160 से अधिक लोग घायल हो गए।

जानकारी के मुताबिक, 2010 में तुर्की और इजरायल के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए थे, जब गाजा पट्टी पर इजरायल की नाकाबंदी को तोड़ने का प्रयास कर रहे तुर्की के नेतृत्व वाले फ्लोटिला ने इजरायली बलों के साथ संघर्ष किया, जिसमें 10 तुर्क मारे गए।

जबकि, 2018 में एक और हालिया विवाद में अमेरिका द्वारा अपने दूतावास को यरूशलेम में स्थानांतरित करने के बाद तुर्की ने इजरायल के राजदूत को निष्कासित कर दिया।

दोनों देश हाल के महीनों में एक मेल-मिलाप पर काम कर रहे हैं। 9 मार्च को इजरायल के राष्ट्रपति इसहाक हजरेग ने अंकारा का दौरा किया, जिसके दौरान एर्दोगन ने फिलिस्तीन के मुद्दे पर तुर्की की संवेदनशीलता को स्पष्ट रूप से व्यक्त किया।

एसएस/एसकेपी