देश विदेश

हाईलैंड स्पिरिट का संरक्षण

बीजिंग, 13 अप्रैल ()। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस (नवंबर 2012) के बाद से चीन के एक महत्वपूर्ण पारिस्थितिक सुरक्षा बाधा के रूप में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में पारिस्थितिक और पर्यावरण संरक्षण के काम को बहुत महत्व दिया गया और पारिस्थितिक पर्यावरण की रक्षा के लिए कई उपाय किए गए। जिसके अच्छे परिणाम हासिल हुए हैं।

तिब्बत का छ्यांगथांग राष्ट्रीय प्रकृति रिजर्व, जिसे मानव जीवन के लिए निषिद्ध क्षेत्र के रूप में जाना जाता है, की औसत ऊंचाई 5,000 मीटर से अधिक है, और शुआंगहू काउंटी इस प्रकृति रिजर्व क्षेत्र में स्थित है, जो देश में सबसे अधिक ऊंचाई वाली काउंटी है। वहां की हवा में ऑक्सीजन की मात्रा मैदानी क्षेत्र की तुलना में केवल 40 प्रतिशत है, और प्रत्येक वर्ष में 200 दिन से ज्यादा वहां 8 के स्तर से ऊपर वाली तेज हवाएं चलती हैं।

एक केयरटेकर के रूप में लुओसांगरीता और उनके अन्य 7 साथी इस नो-मैन्स लैंड के चौकीदार हैं। हर सुबह, लुओसांगरीता और उसके साथी मोटरसाइकिल चलाते हुए नो-मैन्स लैंड की गहराई तक जाते हैं। उन्होंने कहा कि हम आमतौर पर 100 किलोमीटर से अधिक की यात्रा करते हैं, कभी-कभी जंगली जानवरों को कांटेदार तार में फंसा हुआ देख उन्हें बचाते हैं, हमारा काम आमतौर पर गश्त लगाना और रिकॉडिर्ंग करना होता है।

जुलाई 2015 में, तिब्बत ने छ्यांगथांग राष्ट्रीय प्रकृति रिजर्व की प्रबंधन प्रणाली में सुधार का पायलट कार्य शुरू किया। वर्तमान में प्रकृति रिजर्व में 73 प्रबंधन स्टेशन और 780 चौकीदार हैं। 1970 के दशक में, छ्यांगथांग के दक्षिण में जनसंख्या और पशुधन की संख्या में तेजी से वृद्धि के साथ साथ चरवाहे छ्यांगथांग के भीतरी इलाकों में नो-मैन्स लैंड में चले गये।

हालांकि, पारिस्थितिक और पर्यावरण संरक्षण कार्य को मजबूत करने के साथ साथ मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व की समस्या को हल करने, कुछ चरवाहों को कम ऊंचाई वाले क्षेत्र पर अधिक आरामदायक जीवन जीने देने और जंगली जानवरों के लिए घर बनाने के लिए 2018 के जून में तिब्बत ने अत्यधिक ऊंचाई वाली पारिस्थितिक पुनर्वास परियोजना का कार्यान्वयन शुरू किया।

वे इस भूमि के स्वामी हैं। उन्हें उत्तरी तिब्बत के अल्पाइन घास के मैदान वापस दें, ताकि वे बेहतर ढंग से जीवन बिता सकें। चरवाहे रिनजि़न ने कहा कि उनका परिवार 2018 में नागछू शहर के निमा काउंटी के रोंगमा टाउन से ल्हासा शहर के तुइलोंग तछिंग क्षेत्र के कुरोंग टाउन में स्थानांतरित हुआ।

प्रकृति रिजर्व पर केंद्रित प्राकृतिक संसाधन संरक्षण प्रणाली धीरे-धीरे पूरी हो चुकी है। और पूरे क्षेत्र में 80 प्रतिशत से अधिक दुर्लभ और लुप्तप्राय जंगली जानवरों और पौधों की प्रजातियों और विशिष्ट पारिस्थितिक तंत्र को प्रभावी ढंग से संरक्षित किया गया है।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

एएनएम