देश विदेश

भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कदम उठा रहा है चीन

बीजिंग, 16 नवंबर ()। चीन में पिछले कुछ वर्षों से भ्रष्टाचार के खिलाफ बेहद सख्ती दिखायी जा रही है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के सत्ता में आने के बाद इस बारे में व्यापक अभियान चलाया गया है। चीन सरकार व कम्युनिस्ट पार्टी ने देश में स्वच्छ प्रशासन के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई है। इसके साथ ही देश छोड़कर भाग चुके भगोड़ों को भी पकड़कर वापस लाया जा रहा है। इस संदर्भ में हाल के वर्षों में चीन ने कई देशों के साथ प्रत्यर्पण संधियां भी संपन्न की हैं। ताकि भ्रष्टाचार में लिप्त व्यक्ति विदेशों में आजाद न घूम सकें। और उन्हें चीन में वापस लाकर देश के कानून के मुताबिक दंड दिया जा सके। जाहिर है कि चीन गरीबी उन्मूलन की तरह भ्रष्टाचार के खात्मे पर भी पूरा ध्यान दे रहा है। क्योंकि साफ-सुथरी व्यवस्था से देश सही मायने में विकास के पथ पर अग्रसर हो सकता है।

चीन द्वारा भ्रष्टाचार को लेकर कितना कड़ा रुख अपनाया जा रहा है, इसका उदाहरण चीनी विदेश मंत्रालय के एक बयान से लग जाता है। मंत्रालय की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार एक भ्रष्ट पूर्व बैंक प्रबंधक के अमेरिका से प्रत्यावर्तन ने भ्रष्टाचार से लड़ने में चीन सरकार के ²ढ़ संकल्प और स्पष्ट स्थिति को दिखाया है।

वहीं राष्ट्रीय पर्यवेक्षी आयोग व देश की शीर्ष भ्रष्टाचार-विरोधी संस्था के मुताबिक चीन ने 81 देशों के साथ 169 प्रत्यर्पण संधियां, न्यायिक सहायता संधियां और संपत्ति वापसी और साझाकरण समझौते संपन्न किए हैं। कहने का मतलब है कि भ्रष्टाचार में शामिल कोई भी व्यक्ति नियमों का फायदा उठाकर देश के बाहर नहीं जा सकता है। इसके लिए चीन सरकार ने विभिन्न देशों के साथ समझौतों को अंतिम रूप दे दिया है।

इसके अलावा 56 देशों और क्षेत्रों के साथ वित्तीय सूचनाओं के आदान-प्रदान पर सहयोग समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए गए हैं। जबकि सभी महाद्वीपों और प्रमुख देशों को कवर करते हुए एक भ्रष्टाचार विरोधी कानून प्रवर्तन सहयोग नेटवर्क की स्थापना की गयी है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक चीन सरकार भ्रष्टाचार के अपराधों पर सख्ती से कार्रवाई करती है। जबकि भगोड़ों का पीछा करना जारी रखती है और अवैध संपत्ति की वसूली करती है और भ्रष्ट व्यक्ति को कानून के दायरे में लाती है।

इस तरह से चीन में भ्रष्टाचार को लेकर हर स्तर पर सख्ती बरती जा रही है। जिसका प्रभाव अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रत्यर्पण संधियों में भी दिख रहा है। कहा जा सकता है कि चीन में भ्रष्टाचार के खिलाफ जारी अभियान देश को सही राह पर ले जाएगा।

(अनिल पांडेय, चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

एएनएम

Sabal Singh Bhati

Sabal Singh Bhati is the Chief Editor at Niharika Times. He tweets @sabalbhati Views are personal.
Niharika Times We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications