देश विदेश

बुजुर्ग आबादी के लिए नसिर्ंग सेवाएं उपलब्ध कराने पर ध्यान देगा चीन

चीन में बुजुर्गों की बढ़ती आबादी प्रमुख चिंता का विषय है। समय-समय पर सरकार द्वारा आबादी के बीच संतुलन बनाने और बुजुर्गों की देखभाल आदि के लिए योजनाएं जारी की जाती हैं। इसी कड़ी में चीन बूढ़ी होती जनसंख्या की जरूरतों को पूरा करने और उनके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए कदम उठाने वाला है।

बताया जाता है कि चीन सरकार अगले चार वर्षों में और अधिक बुजुर्ग लोगों को सस्ती नसिर्ंग सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए योजना बना रही है। ताकि वे अपना जीवन बेहतर और खुशहाल तरीके से बिता सकें।

ध्यान रहे कि चीनी राज्य परिषद ने हाल ही में 14वीं पंचवर्षीय योजना (2021-25) के लिए सार्वजनिक सेवा योजना को मंजूरी दी। जिसमें कहा गया है कि चीनी नागरिकों के पास बेहतर जीवन के लिए उच्च आवश्यकताएं हैं। जिसमें बुजुर्गों व बच्चों पर सबसे ज्यादा ध्यान है। ऐसे में उनके लिए शिक्षा, चिकित्सा उपचार और नसिर्ंग व सार्वजनिक सेवाएं प्रदान किया जाना शामिल है। कहा गया है कि इन चिंताओं को दूर करने से लोगों के मन में खुशी और सुरक्षा की भावना पैदा होगी।

गौरतलब है कि चीन में जनसंख्या संरचना में हाल के दशकों में तेजी से बदलाव हुआ है, जो अब तेजी से बूढ़ी होती आबादी में बदल चुकी है। जानकार कहते हैं कि इन परिवर्तनों ने लोगों को उन सार्वजनिक सेवाओं पर अधिक निर्भर बना दिया है जो गुणवत्तापूर्ण जीवन और व्यक्तिगत विकास को सक्षम बनाती हैं।

चीनी नागरिक मामला मंत्रालय में नसिर्ंग सेवाओं के उप निदेशक ली पांगहुआ ने मीडिया ब्रीफिंग में बताया कि योजना के तहत अगले चार वर्षों में व्यवस्थित रूप से परिभाषित नसिर्ंग सेवाओं को बेहतर बनाया जाएगा, इसका बुजुर्गों के जीवन पर सकारात्मक असर पड़ेगा।

इसके साथ ही योजना में इस बात पर भी जोर दिया गया है कि सरकार गरीब बुजुर्गों के जीवन को सुरक्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। साथ ही सरकार बुजुर्गों या गंभीर विकलांग लोगों को मुफ्त सेवाएं प्रदान करने के लिए भी नसिर्ंग संस्थानों को प्रोत्साहित करेगी।

योजना के अनुसार, ज्यादा निजी कंपनियों को इस क्षेत्र में काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके साथ ही सेवाओं के मानकीकरण के लिए नसिर्ंग प्रशिक्षण अभियान भी चलाया जाएगा।

(अनिल पांडेय ,चाइना मीडिया ग्रुप , पेइचिंग)

आरजेएस