देश विदेश

चुनाव में देरी के बाद तुर्की ने लीबिया में शांति की अपील की

अंकारा, 25 दिसम्बर ()। तुर्की ने राष्ट्रपति चुनाव में देरी के बाद लीबिया में शांति बनाए रखने पर जोर दिया है, यह देखते हुए कि चुनाव से संबंधित सभी पहलुओं को लीबियाई लोगों द्वारा कानूनी ढांचे के माध्यम से तय किया जाना चाहिए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, विदेश मंत्रालय की तरफ से एक बयान में कहा गया कि तुर्की, लीबिया में चुनावों को ट्रांजिशन प्रक्रिया में महत्वपूर्ण मानकर इसका समर्थन करता है। लीबिया के राष्ट्रपति चुनाव जो 24 दिसंबर को निर्धारित किए गए थे, उन्हें स्थगित कर दिया गया है क्योंकि उम्मीदवारों ने शर्तों को पूरा नहीं किया था।

मंत्रालय ने कहा कि निष्पक्ष, विश्वसनीय और स्वतंत्र तरीके से चुनाव कराना, सभी दलों द्वारा चुनाव परिणामों की मान्यता और देशभर में नई सरकार द्वारा अधिकार का प्रयोग करना, लीबिया की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने के मामले में महत्वपूर्ण है।

तुर्की ने संघर्ष विराम स्थापित करने और जमीन पर शांति स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। साथ ही लीबिया में राजनीतिक प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए, शुरू से ही इस बात की वकालत की है कि चुनाव एक ठोस कानूनी आधार पर होना चाहिए, जो कि लीबिया के राजनीतिक समझौते के अनुसार सभी संबंधित संस्थानों के बीच व्यापक संभव सहमति के माध्यम से पहुंच सके।

लीबिया में चुनाव फरवरी में संयुक्त राष्ट्र प्रायोजित लीबिया राजनीतिक वार्ता मंच द्वारा अपनाए गए रोडमैप का हिस्सा हैं, जिसका उद्देश्य उत्तरी अफ्रीकी देश में स्थिरता लाना है।

लीबिया 2011 में दिवंगत नेता मुअम्मर गद्दाफी के शासन के पतन के बाद से असुरक्षा और राजनीतिक अस्थिरता का सामना कर रहा है।

एसएस/एएनएम

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें निहारिका टाइम्स हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Niharika Times Android Hindi News APP